ओवेरियन कैंसर का इलाज कैसे होता हैं ? जानिए इसका खर्च और अच्छे अस्पताल


आजकल के समय में महिलाओं के प्रजनन अंगो से सम्बंधित अनेक परेशानियां देखने को मिल रही हैं, जिनमे से एक हैं ओवेरियन कैंसर। ओवेरियन कैंसर महिलाओं में देखे जाने वाली एक गंभीर बीमारी हैं तथा यह कई महिलाओं के लिए जानलेवा भी साबित हुई हैं। ओवेरियन कैंसर एक ऐसी बीमारी हैं जिसका इलाज शुरुआत स्टेज में ही हो जाना चाहिए अन्यथा यह आगे चलकर गंभीर हो जाती हैं। ओवेरियन कैंसर जैसी बीमारी होंने से महिलाओं को गर्भधारण करने में परेशानी आती हैं तथा अन्य कई समस्याओं का भी सामना करना पड़ता हैं।

 

ओवेरियन कैंसर, यानी अंडाशय का कैंसर, महिलाओं के लिए एक गंभीर बीमारी है। इसे “खामोश हत्यारा” भी कहा जाता है क्योंकि इसके शुरुआती लक्षण अक्सर धुंधले होते हैं और आसानी से अनदेखे रह जाते हैं। यही वजह है कि इसका पता देर से चलता है और इलाज भी जटिल हो जाता है। ओवेरियन कैंसर के थोड़े लक्षण दिखने पर भी उसको नज़रअंदाज़ नहीं करना चाहिए और समय से इसका इलाज करवा लेना चाहिए।

 

 

 

 

 

ओवेरियन कैंसर में महिलाओं के ओवेरी (अंडाशय) में कैंसर के गांठों का विकास होता है। यह गांठें अंडाशय के भीतर या उसके आसपास उत्पन्न होती हैं। ये गांठें अधिकांशत: शुरुआत में छोटी होती हैं, लेकिन समय के साथ बढ़ सकती हैं और कैंसर की गंभीरता को दर्शाती हैं। ये कैंसर की गांठें शुरूआत में आमतौर पर असंज्ञानित होती हैं, जिसके कारण रोग को पहचानना मुश्किल हो सकता है। ओवेरियन कैंसर के लक्षणों में पेट के ऊपरी भाग में दर्द, तेजी से वजन घटना, पेट के बड़े आकार की वृद्धि, उल्टियाँ, ब्लूटिंग, और बदलते सेमेनल लक्षण शामिल हो सकते हैं। ओवेरियन कैंसर का इलाज अक्सर सर्जरी, कीमोथेरेपी, और रेडियोथेरेपी के माध्यम से किया जाता है।

 

 

 

क्या ओवेरियन कैंसर 100% ठीक हो सकता है? (Kya ovarian cancer 100% thik ho Sakta Hain in Hindi)

 

  Yoga For PCOD: 5 100% Effective Yoga Poses For Women Stuggling With Hormonal Issues

 

ओवेरियन कैंसर का इलाज कई मामलों में संभव हो सकता है, लेकिन यह 100% समाप्त नहीं हो सकता है। अधिकांश मामलों में, ओवेरियन कैंसर का इलाज सर्जरी, कीमोथेरेपी और रेडियोथेरेपी के माध्यम से किया जाता है। इन उपचारों के द्वारा, कैंसर को नियंत्रित किया और कंट्रोल किया जा सकता है, लेकिन बहुत सारे अनुसंधानों और अनुभवों के बावजूद, कुछ मामलों में कैंसर पूरी तरह से समाप्त नहीं होता। इसलिए किसी भी निश्चितता के साथ यह नहीं कहा जा सकता कि कैंसर 100% ठीक हो सकता है। लेकिन सही उपचार, देखभाल, और समर्थन के साथ, रोगी की जीवन गुणवत्ता बढ़ाई जा सकती है और कैंसर के लक्षणों को नियंत्रित किया जा सकता है।

 

 

 

ओवेरियन कैंसर के इलाज के लिए कितना पैसा लगता हैं? (Ovarian cancer Ke ilaj Ke Liye Kitna kharch lagta Hain in Hindi)

 

 

भारत के सभी अस्पतालों में ओवेरियन कैंसर की लागत विभिन्न हैं तथा यह मरीज की स्थिति पर भी निर्भर करती हैं। कुछ अस्पतालों में ओवेरियन कैंसर की लागत INR 5 लाख से INR 10 लाख तक होती हैं। यदि आप अच्छे अस्पताल में कम लागत में ओवेरियन कैंसर का इलाज करवाना चाहते हैं तो आप हमसे संपर्क कर सकते हैं।

 

 

 

ओवेरियन कैंसर की लास्ट स्टेज के लक्षण क्या है? (Ovarian cancer ki last stage Ke Lakshan Kya Hain in Hindi)

 

 

ओवेरियन कैंसर की लास्ट स्टेज (अंतिम चरण) में रोग के लक्षण अक्सर अधिक गंभीर और प्रभावकारी होते हैं। इनमें शामिल हो सकते हैं:

 

 

  • पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द: पेट के ऊपरी हिस्से में तेज दर्द हो सकता हैं। यह दर्द अक्सर लंबे समय तक बना रहता है और असहनीय हो सकता है।

 

  • पेट का बड़ा हो जाना: लास्ट स्टेज में, कैंसर के कारण पेट का आकार बड़ा हो सकता है।
  डायबिटीज के मरीजों ज्यादा होता है इस कैंसर का खतरा, ज़रा सी लापरवाही पड़ सकती है भारी

 

  • वजन कमी: रोग के प्रगति के साथ, व्यक्ति का वजन कम हो सकता है और अस्वस्थ दिखाई देने लगता है।

 

  • ब्लीडिंग: पेट के ऊपरी हिस्से में या अन्य क्षेत्रों में अनियमित ब्लीडिंग हो सकती है। यह ब्लीडिंग गहरी या असामान्य रंग की हो सकती है।

 

  • सामान्य अस्वस्थता: लास्ट स्टेज में, व्यक्ति को अत्यधिक थकान या कमजोरी, उबकाई, चक्कर आना, या अन्य सामान्य अस्वस्थता के लक्षण नज़र आ सकते हैं।

 

 

 

ओवेरियन कैंसर का इलाज कैसे होता हैं? (Ovarian cancer ka ilaj Kaise Hota Hain in Hindi)

 

 

ओवेरियन कैंसर का इलाज कई तरीकों से किया जा सकता है, जो निम्नलिखित हैं:

 

सर्जरी(surgery): ओवेरियन कैंसर का सबसे मह्त्वपूर्ण इलाज सर्जरी होता हैं, जिससे की ओवेरियन कैंसर खत्म होने की संभावना बढ़ जाती हैं।ओवेरियन कैंसर के लिए सर्जरी के कई प्रकार होते हैं जो कि कैंसर की स्टेज पर निर्भर करती हैं। सर्जरी के कुछ प्रकार ऐसे होते हैं, जिसे करने के बाद आप गर्भधारण कर सकते हैं, और कुछ सर्जरी ऐसी होती हैं जिससे कि आप गर्भधारण नहीं कर सकते हैं। यह सब कैंसर कि स्थिति पर निर्भर करता हैं।

 

कीमोथेरेपी(chemotherapy): कीमोथेरेपी एक ऐसा उपचार है जो कि दवाइयों द्वारा किया जाता हैं। कीमोथेरेपी के उपचार से कैंसर को बिलकुल खत्म नहीं किया जा सकता परन्तु नियंत्रण में रखा जा सकता हैं। कीमोथेरेपी कि प्रक्रिया में 3 से 4 हफ्तों का समय लग जाता हैं।

 

रेडियोथेरेपी(radiotherapy): इसमें उच्च-तरंग किरणों का उपयोग किया जाता है, जो कैंसर को नष्ट करने या इसकी वृद्धि को रोकने के लिए मददगार सबित होती हैं।

 

लक्षित थेरेपी(targeted therapy): लक्षित थेरेपी भी दवाइयों द्वारा ही करी जाती हैं। लक्षित थेरेपी स्वस्थ कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाए बिना कैंसर कोशिकाओं को नष्ट कर देता हैं।

 

  A Simple, No-Bake Oat Bar Recipe for a Nutrition-Packed Morning

 

 

ओवेरियन कैंसर के इलाज के लिए अच्छे अस्पताल- (Ovarian cancer Ke treatment Ke Liye ache hospital in Hindi)

 

 

 

ओवेरियन कैंसर के इलाज़ के लिए दिल्ली के अच्छे अस्पताल-

 

 

 

ओवेरियन कैंसर के इलाज के लिए महाराष्ट्र के अच्छे अस्पताल-

 

 

 

ओवेरियन कैंसर के इलाज़ के लिए बैंगलोर के अच्छे अस्पताल-

 

 

 

यदि आप ओवेरियन कैंसर का इलाज कराना चाहते हैं, या इससे सम्बंधित किसी भी समस्या का इलाज कराना चाहते हैं, या कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें। इसके अलावा आप प्ले स्टोर (play store) से हमारा ऐप डाउनलोड करके डॉक्टर से डायरेक्ट कंसल्ट कर सकते हैं। आप हमसे व्हाट्सएप (+91 9599004311) पर भी संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा आप हमारी सेवाओं के संबंध में हमे [email protected] पर ईमेल भी कर सकते हैं। हमारी टीम जल्द से जल्द आपसे संपर्क करेगी।

 

Doctor Consutation Free of src=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।


 

 



Source link

Leave a Comment