Warning: Undefined variable $post in /home4/ketodmzv/public_html/wp-content/plugins/schema-and-structured-data-for-wp/admin_section/common-function.php on line 5311

Warning: Attempt to read property "ID" on null in /home4/ketodmzv/public_html/wp-content/plugins/schema-and-structured-data-for-wp/admin_section/common-function.php on line 5311

साथ-साथ चलते हैं स्ट्रेस और मोटापा, जानें किस तरह बॉडी में स्टोर करता है फैट,


Stress and Obesity: क्या आप जानते हैं कि आप जितना ज्यादा स्ट्रेस लेते हैं, मोटापा भी उतना ही बढ़ता है. दरअसल, स्ट्रोस और मोटापा एक तरह से लाइफस्टाइल डिसऑर्डर और एक-दूसरे से कनेक्टेड हैं. बिजी लाइफस्टाइल में आजकल जितना तेजी से स्ट्रेस बढ़ रहा है, मोटापा भी उतनी ही तेजी से आ रहा है. कई रिसर्च में भी यह बात साबित हुआ है. ऐसे में आइए जानते हैं स्ट्रेस और मोटापे (Stress and Obesity) में क्या कनेक्शन है और इससे क्या-क्या नुकसान हो सकते हैं…

 

तनाव से मोटापे का खतरा, कैसे

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन में पब्लिश एक स्टडी में बताया गया है कि मोटापा तनाव का कारण बनता है और तनाव मोटापे की. तनाव यानी स्ट्रेस कॉग्निटिव प्रोसेस जैसे सेल्फ रेगुलेशन प्रभावित करने का काम कर सकता है. इसकी वजह से कैलोरी, फैट और शुगर जैसे फूड्स की क्रेविंग बढ़ती है, जिससे शरीर सामान्य तरीके से काम नहीं कर पाता है. स्ट्रेस होने पर लेप्टिन और घ्रेलिन जैसे हार्मोन का उत्पादन बढ़ जाता है, जो भूख बढ़ाने के लिए जिम्मेदार होते हैं. ऐसे में बस खाने का मन करता है और ज्यादा खा लिया जाता है. इस ओवरईटिंग की वजह से मोटापा तेजी से बढ़ता है. ज्यादा समय तक स्ट्रेस में रहने से फिजिकल एक्टिविटीज भी कम होती है और बॉडी में फैट स्टोर हो जाता है. इससे नींद में भी कमी आती है, जो मोटापा बढ़ाने का कारण है.

 

स्ट्रेस लेने पर बढ़ती हैं अनहेल्दी हैबिट्स्

 

1. स्ट्रेस में बॉडी में कॉर्टिसोल का लेवल बढ़ जाता है. जिसकी वजह से अनहेल्दी फूड्स की क्रेविंग बढ़ती है. ऐसे में इमोशनल ईटिंग होती है, जिससे वजन बढ़ सकता है.

 

  30 की उम्र के बाद महिलाओं को जरूर करवानी चाहिए यह 5 टेस्ट

2. जब भी हम तनाव में होते हैं तो असंतुलित चीजें खाने लगते हैं. ऐसे ही तनाव में खाना न खाने की आदत भी डेवलप होती है, इससे अचानक से भूख बढ़ती है और ज्यादा खा लेते हैं.

 

3. स्ट्रेस में रहने पर नींद प्रभावित होती है. सही तरह नींद पूरी न हो पाने के कारण बॉडी हार्मोंस असंतुलित होने का डर रहता है, जिससे कई हेल्थ इश्यूज हो सकते हैं.

 

स्ट्रेस और मोटापा को रोकना है तो क्या करें

 

1. क्रॉनिक स्ट्रेस जैसी समस्याओं को अनदेखा करने की गलती न करें.

2. स्ट्रेस से बचने के लिए योग, मेडिटेशन पर ध्यान दें. वर्कआउट-एक्सरसाइज को दिनचर्या का हिस्सा बनाएं.

3. स्ट्रेस ईटिंग अवॉइड करें. अपने आसपास हेल्दी चीजों को रखें, जिससे जरूरत पड़ने पर जंक फूड्स की बजाय सीड्स, नट्स जैसी चीजें खा सकें.

4. स्ट्रेस ईटिंग को अवॉइड करने के लिए फुट मसाज ले सकते हैं, जो बेहद फायदेमंद है.

5. स्ट्रेस ईटिंग से बचने के लिए रिलैक्स होना और ध्यान भटकाना जरूरी होता है. इसमें ब्लैक टी आपकी मदद कर सकता है.

 

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator



Source link

Leave a Comment