कोरोना का नया वेरिएंट JN.1 है चौथी लहर का आगाज? जानें एक्सपर्ट क्या कहते हैं?



<p style="text-align: justify;">एक बार फिर से कोरोना के नए वेरिएंट JN.1 ने लोगों के बीच टेंशन बढ़ा दी है. क्रिसमस और न्यू ईयर पार्टी को लेकर लोगों के बीच जितनी ज्यादा एक्साइटमेंट है तो वहीं लोगों के अंदर कोरोना के नए वेरिएंट को लेकर काफी डर का माहौल बन हुआ है. कई लोग इसे कोरोना की नई लहर का आगाज मान रहे हैं तो ऐसे में हेल्थ एक्सपर्ट का कहना है कि इसे अभी चौथी लहर कहना जल्दबाजी होगी. इससे ज्यादा घबराने की जरूरत नहीं है. साथ ही यह भी कहा जा रहा है कि WHO ने कहा है कि यह वेरिएंट जिसे वेरिएंट ऑफ इंटरेस्ट कहा जाता है वह आखिरी नहीं है.&nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>सीजनल फ्लू के लक्षण भी कोविड की तरह ही है</strong></p>
<p style="text-align: justify;">’टाइम्स ऑफ इंडिया’ के मुताबिक WHO के चीफ साइंटिस्ट डॉ. सौम्या स्वामीनाथन के मुताबिक सीजनल फ्लू जैसे- इन्फ्लूएंजा ए (एच1एन1 और एच3एन2), एडेनोवायरस, राइनोवायरस और रेस्पिरेटरी सिंकाइटियल वायरस के कारण होने वाली सांस की बीमारी सीजनल बीमारियों का कारण बन सकती है. जोकि कोविड-19 के लक्षणों की तरह ही है.&nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;">डॉक्टर के मुताबिक जिन लोगों को सांस की तकलीफ जब बढ़ जाती है तब हम उन्हें हॉस्पिटल में एडमिट करवाते हैं. गंभीर निमोनिया और सांस की बीमारी.&nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>क्या मास्क जरूर पहनना चाहिए?</strong></p>
<p style="text-align: justify;">सार्वजनिक स्वास्थ्य के पूर्व निदेशक डॉ. के. कोलांडाइसामी के मुताबिक भीड़भाड़ वाले जगहों पर मास्क जरूर पहनना चाहिए. यह सिर्फ कोविड को ही नहीं बल्कि कई दूसरी बीमारियों की भी रोकथाम कर सकता है. लेकिन हर वक्त मास्क पहनकर रहना जरूरी नहीं. जिन लोगों को इम्युनिटी कमजोर है जैसे- बुजुर्ग. गर्भवती महिलाएं, बच्चे उन्हें मास्क जरूर पहनना चाहिए.&nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>जानें कब-कब कोरोना के लक्षण बदले हैं</strong></p>
<p style="text-align: justify;">WHO के मुताबिक कोरोना के लक्षण- विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार कोरोना के सबसे आम लक्षणों में बुखार, खांसी, स्वाद और गंध महसूस ना होना और थकान शामिल है. कम सामान्य लक्षण में गले में खराश, सिर दर्द, शरीर दर्द, दस्त, त्वचा पर दाने, आंखें लाल होना और हाथ-पैर की उंगलियों का रंग बदल जाने जैसे लक्षण हैं. इसके तीन सबसे गंभीर लक्षण सांस की तकलीफ, छाती में दर्द और बोलने में दिक्कत या भ्रम महसूस होना है.</p>
<p style="text-align: justify;">NHS के अनुसार कोरोना के लक्षण- UK की &nbsp;राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा (NHS) ने कोरोना के तीन लक्षण बताएं हैं. इसमें पहला लक्षण बुखार है. इसके लिए आपको अपना तापमान मापने की जरूरत नहीं है, छाती या पीठ को छूकर गर्म महसूस करने पर बुखार की पहचान कर सकते हैं. दूसरा लक्षण खांसी है, अगर पूरे दिन में एक घंटे से ज्यादा और लगातार खांसी तो ये कोरोना का संकेत हो सकता है. तीसरा लक्षण गंध या स्वाद की कमी है.&nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;">CDC ने बताए कोरोना के ये लक्षण- CDC का कहना है कि &nbsp;संक्रमण की चपेट में आने के बाद दूसरे दिन से लेकर 14 दिनों के बीच में मरीज में कोरोना के लक्षण नजर आ सकते हैं. इन लक्षणों में मरीज को ठंड के साथ बुखार आ सकता है, सांस लेने में दिक्कत हो सकती है. इसके अलावा थकान, सिर दर्द, स्वाद व गंध की भावना में कमी, गले में खराश, उल्टी या दस्त, सीने में जकड़न, बहती नाक और मांसपेशियों में दर्द हो सकता है. ऐसी स्थिति में मरीज को तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong><em>Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों और सुझाव पर अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें.</em></strong></p>
<p style="text-align: justify;"><a title="ये भी पढ़ें : ब्रेस्ट फीडिंग करवाने वाली मां को कौन सी सप्लीमेंट विटामिन्स लेने होते हैं जरूरी" href="https://www.abplive.com/lifestyle/breastfeeding-mothers-should-know-which-supplement-vitamins-are-necessary-to-take-2562449" target="_self">ये भी पढ़ें : ब्रेस्ट फीडिंग करवाने वाली मां को कौन सी सप्लीमेंट विटामिन्स लेने होते हैं जरूरी</a></p>
<p style="text-align: justify;"><strong><a title="खेलें इलेक्शन का फैंटेसी गेम, जीतें 10,000 तक के गैजेट्स 🏆" href="https://bit.ly/ekbabplbanhin" target="_self" rel="nofollow">खेलें इलेक्शन का फैंटेसी गेम, जीतें 10,000 तक के गैजेट्स 🏆</a></strong></p>



Source link

  Essential medicines will become expensive from April 1

Leave a Comment