गर्भावस्था के दौरान तनाव: जाने कारण और बचने के उपाय – GoMedii


यदि कोई महिला गर्भावस्था के दौरान तनाव लेती है तो ये उसके और उसकी होने वाली संतान के लिए बहुत ज्यादा नुकसानदायक हो सकता है। इस दौरान उस महिला को अपना बहुत ज्यादा ख्याल रखना जरुरी होता है। क्योंकि यह किसी भी महिला के लिए उसकी ज़िन्दगी के सबसे एहम और हसीन पलों में से एक होता है। गर्भावस्था के दौरान अगर मां तनाव लेती है तो ये शिशु के शारीरिक विकास पर बुरा प्रभाव डालता है।

 

 

तनाव होना मामूली सी बात है और आज के समय में हर इंसान तनाव लेता है लेकिन आपको तनाव नहीं लेना चाहिए। यदि हम महिलाओ की बात करें तो गर्भावस्था के दौरान तो उन्हें तनाव से बिल्कुल दूर रहना चाहिए। क्योंकि इससे आप मानसिक रूप से तो परेशान होते ही है, साथ ही होने वाले बच्चे पर भी इसका बुरा प्रभाव पड़ता है। आपको बता दें की तनाव उन महिलाओं को ज्यादा होता है जो पहली बार गर्भवती होती है, क्योंकि वह छोटी से छोटी बातों का तनाव लेती है। ऐसे में क्या है इसके पीछे के कारण, आइये जानते है।

 

गर्भावस्था के दौरान तनाव के कारण ?

 

  • खानपान में लापरवाही बरतना समय पर कुछ नहीं खाना अधिक भूखे रहना।
  • नींद पूरी न होने की वजह से कई गर्भवती महिलाओं को काफी परेशानी होती है।
  • गर्भावस्था के दौरान शराब का सेवन करने की वजह से भी उन्हें तनाव होने लगता है और वह किसी भी चीज को लेकर बहुत सोचने लगती है।
  • धूम्रपान या कैफीन का अधिक सेवन करने से भी तनाव की समस्या पैदा होती है, जो उनके लिए बहुत नुकसानदायक है।
  • गर्भावस्था के दौरान व्यायाम न करने से भी तनाव बढ़ता है और आप शारीरिक रूप से खुद को स्वस्थ महसूस नहीं करते।
  Stress and Anxiety: 5 Everyday Tips to Regulate Cortisol Levels at Home

 

गर्भावस्था के दौरान तनाव के लक्षण

 

  • किसी वषय पर अधिक सोचन
  • ज्यादा काम करना
  • भूख न लगना
  • अपने स्वास्थ में लापरवाही बरतना
  • अनियमित दिन चर्या
  • समय पर भोजन न करना
  • चक्कर आना
  • बिल्कुल आराम न करना

 

यदि गर्भावस्था के दौरान महिला तनाव लेती है तो बच्चे के स्वास्थ्य के लिए ये बहुत हानिकारक होता है, इससे बच्चे में कई तरह के रोग होने की संभावना रहती है। तनाव लेने से कई बार समय से पहले ही बच्चे का जन्म हो जाता है, बच्चे में आयरन की कमी रहती है, बच्चे का विकास ठीक से नहीं होता है, बच्चे का हृदय कमजोर होता है। इसलिए गर्भवती महिलाए कोशिश करें की तनाव से दूर ही रहे।

 

गर्भावस्था के दौरान तनाव कम करने के उपाए

 

व्यायाम या योग करें : गर्भावस्था के दौरान उस महिला को नियमित रूप से व्यायाम या योग करना चाहिए, क्योंंकि व्यायाम से मन तो शांत  रहता ही है, साथ ही इससे आपका शरीर भी स्वस्थ महसूस करता है जो आपके होने वाले बच्चे के लिए बहुत अच्छा होता है।

 

रेस्ट करें : गर्भावस्था के दौरान महिला को ज्यादा से ज्यादा आराम करना चाहिए, क्योंकि आराम करने से दिनभर की थकान दूर होती है। दरअसल, गर्भवती महिला को थोड़ा-थोड़ा काम करने के बाद आराम करते रहना चाहिए।

 

खान-पान पर रखे ध्यान :  जो महिला गर्भवती है उन्हें तनाव दूर करने के लिए पौष्टिक आहार खाना चाहिए। पौष्टिक आहार के लिए गर्भवती महिलाएं साबूत अनाज खा सकती हैं, जोकि विटामिन बी (Vitamin-B), ओमेगा (Omega) और फैटी एसिड (Fatty Acid) से भरपूर होते है। सबसे जरुरी बात मौसमी फल और मौसमी सब्जियों का सेवन जरूर करें।

  Massage the soles with sesame oil daily, these will be surprising benefits

 

घर वालों से ज्यादा बातचीत करें : तनाव से दूर रहना है तो आप अपने घर वालों से बात करें इससे आप किसी भी चीज को लेकर ज्यादा नहीं सोचेंगी। अपने मित्रों से बातें करें जिससे आप खुद को थोड़ा बिजी रखेंगे तो ये आपके लिए बहुत अच्छा होगा।

 

किताबें पढ़ें : यदि आप तनाव से दूर रहना चाहते है तो आप किताबों का सहारा ले सकते है, क्योंकि तनाव को दूर रखना का इससे अच्छा और कोई तरीका नहीं है।

 

प्रसव के बार में उचित जानकरी : गर्भवती महिला को प्रसव पीड़ा का डर रहता है, जोकि गर्भावस्था में स्ट्रेस का मुख्य कारण भी बनता है। गर्भवती महिलाओं को प्रसव से पूर्व ही डॉक्टर से प्रसव संबंधी सभी जानकारी ले लेनी चाहिए और समय-समय पर डॉक्टर की सलाह लेते रहना चाहिए।

 

तनाव किसी भी बीमारी का कारण हो सकता है उसके बावजूद लोग तनाव लेते है। आज कल के समय में लोग इतने बीजी रहते है की उन्हें खुद को समय देने के लिए भी समय नहीं रहता। पुरषों की तुलना में महिलाए ज्यादा तनाव लेती है। यदि वो महिला गर्भवती है तो ये उसके और उसके होने वाले बच्चे के लिए बहुत नुकसानदायक हो सकता है। यदि आपको गर्भावस्था से जुड़ी किसी भी तरह की समस्या है तो आप हमारे डॉक्टर से संपर्क कर सकते है।

 

 

इससे सम्बंधित किसी भी तरह की जानकारी हासिल करना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें या आप हमसे व्हाट्सएप (+91 9599004311)  पर संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा आप हमारी सेवाओं के संबंध में हमें [email protected] पर ईमेल भी कर सकते हैं। हमारी टीम जल्द से जल्द आपसे संपर्क करेगी। हम आपका सबसे अच्छे हॉस्पिटल में इलाज कराएंगे।

Doctor Consutation Free of src=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।

  Some Reduced-Carb Diets May Decrease Diabetes Risk, but Others May Raise It - Neuroscience News

 

 



Source link

Leave a Comment