गले में इन्फेक्शन के लक्षण क्या नज़र आते हैं – Best Hindi Health Tips (हेल्थ टिप्स), Healthcare Blog – News


गले में इन्फेक्शन होना एक आम समस्या होती हैं जिसे की (throat infection) भी कहा जाता हैं यह बीमारी बैक्टीरियल इन्फेक्शन या फिर वायरल इन्फेक्शन के कारण हो सकती है। गले में कई तरह की समस्या हो सकती हैं जब शरीर में कफ और वात दूषित हो जाते हैं तब गले में संक्रमण की समस्या होने लगती हैं। गले में इन्फेक्शन होने से सूजन भी आ जाती हैं गले में इन्फेक्शन की समस्या सभी को अलग अलग होती हैं। कभी कभी गले में संक्रमण मौसम बदलने के कारण भी होता हैं। गले में इन्फेक्शन होने पर डॉक्टर से सही समय पर इलाज करा लेना चाहिए ताकि वह बढ़े न और परेशानी न हो यदि इसका इलाज समय पर न हुआ हो तो यह अधिक बड़ी बीमारी बन सकती हैं।

 

 

 

 

 

इस इन्फेक्शन के लक्षण सभी व्यक्ति में अलग अलग नज़र आते हैं किसी को अधिक गंभीर तो किसी को सामान्य इसलिए इसके लक्षण जल्दी से समझ में नहीं आ पाते परन्तु डॉक्टर के अनुसार जब गले में इन्फेक्शन की शुरुआत होती हैं तो लक्षण कुछ इस प्रकार नज़र आते हैं –

 

 

 

  • गले में दर्द तथा सूजन आना।

 

  • टॉन्सिल से मवाद बहना।

 

  • खाना निगलने में कठिनाई।

 

  • मुँह के अंदर फफोले हो जाना।

 

 

  • भूख कम लगना।

 

  • ठण्ड अधिक लगना।

 

  • मुँह खोलने में कठिनाई।

 

  • सांस लेने में दिक्कत होना।

 

  • बार – बार गले में संक्रमण होना।

 

 

  • अधिक खासी होना।

 

  • बुखार और ठण्ड लगना।

 

  • आवाज़ का बैठ जाना।

 

 

 

गले में इन्फेक्शन होने के कारण क्या होते हैं ?

 

 

सभी का दिन आजकल घर से ज्यादा बहार व्यतीत होता हैं जिससे की धूल, प्रदुषण, आदि चीज़ो का सामना करना पड़ता हैं जो की सेहत के लिए हानिकारक साबित होता हैं गले में इन्फेक्शन अस्वच्छ खानपान या फिर अस्वच्छ चीज़ो के संपर्क में आने से भी हो जाता हैं। माना जाता हैं की गले में इन्फेक्शन के कारण कुछ इस प्रकार होते हैं –

  Best Hospitals to Know How Spinal Cord Tumor Surgery Is Performed - GoMedii

 

 

 

  • बीमार व्यक्ति के संपर्क में आना।

 

 

  • वोकल कॉर्ड ख़राब होना।

 

  • पाचन ख़राब होना।

 

 

  • धूल मिट्टी।

 

  • अधिक ठंडा खाना और पीना।

 

  • अधिक तंबाकू खाना।

 

  • बैक्टीरियल संक्रमण।

 

  • गले में चोट लगने से भी इन्फेक्शन हो जाता हैं।

 

 

 

गले में इन्फेक्शन का इलाज।

 

 

गले में इन्फेक्शन के इलाज के लिए आसपास किसी ईएनटी विशेषज्ञ डॉक्टर से मिलना चाहिए। डॉक्टर गले में इन्फेक्शन होने का कारण पता लगाने के लिए गले की जाँच करते हैं जिसमें ब्लड टेस्ट और गले का एक्स-रे करते हैं तथा उसी के अनुसार दवाइयों का सेवन करने की सलाह देते हैं।गले मैं इन्फेक्शन को ठीक करने के लिए डॉक्टर एंटीबायोटिक दवा की सलाह देते हैं और ये दवाइयों वो होती हैं जिनमें मरीज को किसी भी प्रकार के साइड इफेक्ट्स नहीं आते और वो पूर्णरूप से ठीक हो जाता हैं तथा यदि गले में इन्फेक्शन बार – बार होते हैं या फिर अधिक परेशानी दे रहा तो डॉक्टर टॉन्सिलेक्टॉमी करने की सलाह देते हैं यह एक तरह की सर्जरी होती हैं इसमें गले की टॉन्सिल्स की गांठ को निकाल दिया जाता हैं।

 

 

 

गले में इन्फेक्शन के इलाज के लिए बेस्ट अस्पताल।

 

गले में इन्फेक्शन के इलाज के लिए बेस्ट अस्पताल |Best Hospitals For Throat Infection Treatment

 

 

  कहीं आप भी तो नहीं 1 मिनट में इतनी बार झपकते हैं पलक, हो जाएं सतर्क क्योंकि हो सकता है जानलेवा

 

 

 

यदि आप इनमें से कोई अस्पताल में इलाज करवाना चाहते हैं तो हमसे व्हाट्सएप (+91 9599004311) पर संपर्क कर सकते हैं।

 

 

 

गले में इन्फेक्शन होने पर उसे दूर करने के लिए क्या करें।

 

 

  • गले में इन्फेक्शन को ठीक करने से लिए दवाइयों के साथ – साथ कुछ घरेलू खाद पदार्थ का सेवन भी करना चाहिए जैसे की –

 

  • गले में इन्फेक्शन जैसे की गले में खराश, खासी ,और जुखाम तथा गले में जलन जैसे लक्षण दिखने पर मरीज को अदरक, लॉन्ग , तुलसी , काली मिर्च, की चाय पीनी चाहिए। जिससे की गले में इन्फेक्शन खत्म हो और दर्द से राहत भी मिले।

 

  • गले में इन्फेक्शन होने पर नमक और गर्म पानी के गरारे करने चाहिए इससे इन्फेक्शन में आराम आता हैं और खासी जुखाम भी दूर हो जाता हैं।

 

  • इसके अलावा आप काढ़े का सेवन भी कर सकते हैं। इससे आपको कई लाभ होते हैं। आप इसमें तुलसी पत्ता, अदरक और अजवाइन डाल सकते हैं।

 

  • गले में इन्फेक्शन को ठीक करने के लिए हल्दी वाले दूध का दिन में दो बार करे इससे दर्द में आराम मिल सकता हैं।

 

  • धूम्रपान करने से दूर रहे तथा सिगरेट व् आदि चीज़ो के धुएं से दूर रहे ताकि वह आपके गले तक न पहुंचे और आपको इन्फेक्शन न हो।

 

  • यदि आपको गले का इन्फेक्शन अधिक होता हैं तो बाहर का खान-पान का सेवन कम से कम करने की कोशिश करें।

 

  • पुदीने में मौजूद एंटी-वायरल गुण संक्रमण से लड़ने में मदद करते हैं। आप दिन में दो कप पुदीने की चाय का सेवन कर सकते हैं।
  कान में दर्द भी हो सकते हैं मुंह के कैंसर के शुरुआती लक्षण, हल्के में न लेकर डॉक्टर के पास जरूर

 

  • गले के इन्फेक्शन को ठीक करने लिए ज्यादा से ज्यादा गरम चीज़ो का सेवन करें जो की गले को आराम दे, ठंडी चीज़ो का सेवन करना बिलकुल कम कर दे वह गले को और नुकसान पंहुचा सकते हैं।

 

  • यदि किसी खानपान का सेवन करते हैं उससे पहले सफाई का ध्यान रखे खाने से पहले हाथ धोये तथा खाने के लिए साफ़ चीज़ो का इस्तेमाल करें क्योकि जिससे गले का संक्रमण अधिक फैलता हो उन्हें इस बात का ख्याल रखना बहुत ज़रूरी होता हैं।

 

 

यदि आप गले के इन्फेक्शन का इलाज कराना चाहते हैं, या इससे सम्बंधित किसी भी समस्या का इलाज कराना चाहते हैं, या कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें। इसके अलावा आप प्ले स्टोर(play store) से हमारा ऐप डाउनलोड करके डॉक्टर से डायरेक्ट कंसल्ट कर सकते हैं। आप हमसे व्हाट्सएप (+91  9599004311) पर भी संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा आप हमारी सेवाओं के संबंध में हमें [email protected] पर ईमेल भी कर सकते हैं। हमारी टीम जल्द से जल्द आपसे संपर्क करेगी।

Doctor Consutation Free of src=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।


 

 



Source link

Leave a Comment