जानिए कैसे होता है महिलाओं में छाती की गांठ का इलाज बिना ऑपरेशन के


क्या आपको भी छाती में गांठ का अनुभव हो रहा हैं तो इससे नज़रअंदाज़ न करे ? वर्तमान में कैंसर (Cancer) जैसी बीमारियां दिनों-दिन कई लोगों को अपनी चपेट में ले रही हैं, इनमें ज्यादातर स्तन कैंसर (Breast Cancer) के कारण महिलाओं का जीवन प्रभावित हो रहा है। स्तन कैंसर की शुरुआत में सबसे पहले महिलाओं को छाती में गांठ महसूस होती हैं जो कि कैंसर रहित भी हो सकती हैं और कैंसर युक्त भी, हालांकि अधिकतर स्तन गांठ कैंसर रहित होती हैं क्योकि महिलाओं के स्तन में गांठ होना एक आम समस्या हैं। कई मामलो में छाती में गांठ होने पर असहजता होती हैं जिसके कारण ब्रेस्ट निकालना पड़ता हैं इलसिए गांठ कैसी भी कैंसर रहित या कैंसर युक्त इसका इलाज अवश्य करवाना चाहिए।

 

 

 

 

 

महिलाओं के छाती में गांठ होना एक सामान्य मेडिकल स्थिति है जिसे कि “लम्प” या “मास” भी कहा जाता है। गांठ या लम्प का अर्थ होता है कि ब्रेस्ट के अंदर या उसके आसपास किसी एक जगह पर स्तन में एक स्त्रोत या गांठ हो गई है। यह गांठ स्तन के भीतर के ऊतकों के एक अंश के विकास के परिणाम स्थानीय विकास या बदलाव के कारण हो सकती हैं। कुछ गांठ बिना किसी उपचार के भी गायब हो सकती हैं, जबकि कुछ के लिए चिकित्सकीय निदान और उपचार की आवश्यकता हो सकती है।

 

 

 

महिलाओं के छाती में गांठ के लक्षण क्या नज़र आते हैं ?(What are the symptoms of lump in the chest of women in Hindi)

 

 

छाती में गांठ के लक्षण कुछ विभिन्न हो सकते हैं, जो निम्नलिखित हो सकते हैं:

 

 

  • किसी भी स्तन के किसी भी हिस्से में टिश्यू का सख्त होना
  • स्तन के अलावा कांख में गांठ या सूजन
  • ब्रेस्ट की स्किन पर सिकुडन या गड्ढे
  • स्तनों में तेज दर्द होना
  • निप्‍पल पर या उसके आसपास रैशेज
  • निप्पल से खून निकलना या डिस्चार्ज होना
  • ब्रेस्ट की साइज में बदलाव
  • न‍िप्‍पल में खुजली
  हमेशा खुश रहने के पीछे काम करता है ये चार हार्मोन्स जानें कैसे?

 

 

 

छाती में गांठ होने पर इलाज किस प्रकार होता हैं ? (How is a lump in the chest treated in Hindi)

 

 

छाती में गांठ का इलाज उसके कारण, प्रकार और स्थिति पर निर्भर करता है। यहां कुछ सामान्य इलाज के उपाय दिए जा रहे हैं:

 

 

दवाइयाँ(Medicines): कुछ छाती की गांठ दवाइयों के उपयोग से हल हो सकते हैं। डॉक्टर आपको कुछ दवाइयों का सेवन करने के लिए कहेंगे, जो गांठ के कारण, आकार और आपकी स्वास्थ्य स्थिति के आधार पर निर्धारित की जाएगी।

 

सर्जरी(surgery): यदि गांठ कैंसर के संकेत हैं या यदि वे संदेहित हैं, तो सर्जरी का सुझाव दिया जा सकता है। सर्जरी के द्वारा, गांठ को निकाला जाता है और उसकी परीक्षा की जाती है।

 

रेडियोथेरेपी(Radio therapy): यह विकल्प कैंसर के इलाज में उपयोग किया जाता है, जो उच्च तापमान की तरंगों का उपयोग करके कैंसर को नष्ट करने में मदद कर सकता है।

 

कीमोथेरेपी (chemotherapy): यह एक और उपचार विकल्प है जो कैंसर को नष्ट करने के लिए उपयोग किया जाता है। इसमें दवाओं का उपयोग किया जाता है जो कैंसर को खत्म करने में मदद कर सकती हैं।

 

हार्मोनल थेरेपी (Hormonal therapy): यदि गांठ हार्मोन के संतुलन में असंतुलन के कारण है, तो हार्मोनल थेरेपी की सलाह दी जा सकती है। इसके माध्यम से हार्मोन के संतुलन को सुधारा जा सकता है।

 

 

 

क्या बिना ऑपरेशन के छाती में गांठ को हटाया जा सकता है ? (Can a lump in the chest be removed without operation in Hindi)

 

 

गांठ को हटाने के लिए सर्जरी या अन्य चिकित्सा प्रक्रिया की आवश्यकता गांठ के प्रकार, आकार, स्थिति, और अन्य कारकों पर निर्भर करती है। कुछ गांठें अस्थायी होती हैं और अपने आप ही ठीक हो जाती हैं, जबकि कुछ गांठें चिकित्सा या चिकित्सा-सर्जिकल इंटरवेंशन की आवश्यकता प्रारंभ करती हैं।

  The Rush: Brandon Marshall on the importance of mental health in sports and life

 

छाती में गांठ के मामले में, यदि डॉक्टर गांठ को संदेहित करता है कि यह कैंसर या अन्य संबंधित समस्या हो सकती है, तो वह आमतौर पर गांठ को हटाने के लिए बाह्य परीक्षण या सर्जरी की सलाह देता है। इसके अलावा, कुछ गांठें स्वयं अस्थायी होती हैं, जबकि अन्य गांठें बाह्य कारकों के कारण स्थायी होती हैं और उन्हें हटाने के लिए चिकित्सा इंटरवेंशन की आवश्यकता हो सकती है।

 

 

 

आपको कैसे पता चलेगा कि गांठ कैंसर है ? (How do you know if a lump is cancer in hindi)

 

 

ब्रेस्ट में गांठ कैंसर होने की संभावना को समझने के लिए, डॉक्टर अनेक परीक्षणों और प्रक्रियाओं का उपयोग करते हैं। इन परीक्षणों में निम्नलिखित शामिल हो सकते हैं:

 

 

  • शारीरिक परीक्षण(physical examination): डॉक्टर आपके ब्रेस्ट की जाँच करेंगे और गांठ का आकार, रंग, और स्थिति का मूल्यांकन करेंगे।

 

  • स्तन संग्रहण विश्लेषण (Mammography): यह एक X-रे परीक्षण होता है जिसका उपयोग स्तन के गांठों को जांचने में किया जाता है।

 

  • स्तन आल्ट्रासाउंड (Ultrasound): यह तकनीक गांठ की संरचना को और अधिक स्पष्ट दिखाने में मदद कर सकती है।

 

  • स्तन बायोप्सी (Biopsy): यह प्रक्रिया सामग्री को संग्रहित करने के लिए गांठ के ब्रेस्ट से स्तन से छुआई जाती है, जिससे कि कैंसर की उपस्थिति की पुष्टि की जा सके।

 

  • स्तन MRI (Magnetic Resonance Imaging): यह परीक्षण विशेषतः कठिन मामलों में और कैंसर की उत्पत्ति को स्पष्ट करने में मदद कर सकता है।

 

 

 

भारत में छाती में गांठ के इलाज के लिए अच्छे अस्पताल-

 

 

 

भारत में छाती में गांठ के इलाज के लिए दिल्ली के अच्छे अस्पताल-

 

  Vitamin B12 deficiency: Can you smell that? The 'odorous' symptom hinting at low levels

 

भारत में छाती में गांठ के इलाज के लिए के गुरुग्राम अच्छे अस्पताल-

 

 

 

भारत में छाती में गांठ के इलाज के लिए के चेन्नई अच्छे अस्पताल-

 

 

 

भारत में छाती में गांठ के इलाज के लिए के मुंबई अच्छे अस्पताल-

 

 

 

 

यदि आप कम खर्च में छाती में गांठ के ट्रीटमेंट की तलाश कर रहे हैं या इससे सम्बंधित किसी भी तरह की जानकारी हासिल करना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें| आप हमसे व्हाट्सएप (+91 9599004311) पर संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा आप हमारी सेवाओं के संबंध में हमें [email protected] पर ईमेल भी कर सकते हैं। हमारी टीम जल्द से जल्द आपसे संपर्क करेगी।

Doctor Consutation Free of src=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।


 

 



Source link

Leave a Comment