त्वचा कैंसर के इलाज के क्या विकल्प हैं और जानिए इसके कारण क्या हैं? – GoMedii


कैंसर एक बहुत ही गंभीर बीमारी है, अगर समय पर कैंसर का निदान और इलाज नहीं किया गया तो व्यक्ति की जान तक जा सकती है। वैसे तो कैंसर कई तरह के होते हैं जो शरीर के अलग-अलग हिस्सों में विकसित होता है। लेकिन मेलेनोमा, एक बहुत ही आम और बेहद खतरनाक प्रकार का त्वचा में होने वाला कैंसर है, जो शरीर के लगभग किसी भी हिस्से में विकसित हो सकता है, यहां तक कि ऐसे स्थान जो सामान्य रूप से सूर्य के संपर्क में नहीं आते हैं, जैसे कि जननांग या गुदा जैसे क्षेत्रों में भी हो सकता है।

यह त्वचा के अलावा शरीर के अन्य हिस्सों में भी शुरू हो सकता है, जैसे कि आंख या मुंह। आपको बता दें की हमारे पूरे शरीर में त्वचा सबसे बड़ा अंग है इसलिए इसकी देखभाल भी करना बहुत जरूरी है। आमतौर पर, ऐसा माना जाता है कि यह समस्या मुख्य रूप इ शरीर के उन्हीं अंगों पर हो सकती है, जो धूप के संपर्क में सीधे तौर पर आते हैं लेकिन ऐसा भी देखा गया है कि यह बीमारी शरीर के उस अंग में भी हो सकती है, जो धूप के संपर्क में बहुत कम आते हैं। यदि आपको त्वचा से जुड़ी कोई समस्या है तो  आप हमारे डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं। डॉक्टर से संपर्क करने के लिए यहाँ क्लिक करें

 

 

त्वचा कैंसर के कितने प्रकार होते हैं? (How many types of skin cancer are there in Hindi)

 

त्वचा कैंसर अक्सर सूर्य के प्रकाश के संपर्क में आने के कारण होता है। त्वचा कैंसर के तीन मुख्य प्रकार हैं:

 

  • बेसल सेल कार्सिनोमा (Basal cell carcinoma): बेसल कोशिकाएं एक प्रकार की कोशिका होती हैं जो हमारी त्वचा को सूर्य की पराबैंगनी किरणों से बचाती हैं। लेकिन अगर हमारी त्वचा लंबे समय तक पराबैंगनी किरणों के संपर्क में रहती है, तो ये कोशिकाएं अपना आकार बढ़ा लेती हैं।

 

  • मेलेनोमा (Melanoma): मेलेनोमा त्वचा कैंसर तीसरा प्रकार का त्वचा कैंसर है। मेलेनोमा तीसरा प्रकार का त्वचा कैंसर है। त्वचा कैंसर के प्रकारों में सबसे खतरनाक मेलेनोमा त्वचा कैंसर है जो हमारी त्वचा के वर्णक उत्पादक कोशिकाओं को प्रभावित करता है।
  PureGym reveals Maidenhead opening date

 

  • स्क्वैमस सेल कार्सिनोमा (Squamous cell carcinoma) : दूसरे प्रकार का त्वचा का  कैंसर स्क्वैमस सेल कार्सिनोमा है। यह कैंसर आमतौर पर तब होता है जब त्वचा की कोशिकाएं प्रदूषित वातावरण के संपर्क में आती हैं। हालांकि इस प्रकार के कैंसर को सामान्य माना जाता है, लेकिन इसे नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए।

 

 

 

 

एक्सिसनल सर्जरी

एक्सोनल सर्जरी एक बहुत ही महत्वपूर्ण इलाज है लेकिन यह थोड़ा महंगा इलाज है। इस सर्जरी के दौरान डॉक्टरों हमारी त्वचा के कैंसर के प्रभावित क्षेत्रों को काट का हटा देते हैं ताकि घाव अन्य अंगों में न फैले। यह प्रणाली त्वचा के कैंसर के लिए काफी उपयुक्त मानी जाती है।

 

रेडिएशन थेरेपी

रेडिएशन थेरेपी में, एक्स-रे जैसे तेज युवी ऊर्जा का इस्तेमाल किया जाता है जिससे कैंसर कोशिकाओं को नष्ट कर दिया जाता है। इस थैरेपी के जरिए कैंसर सेल्स को उसी जगह पर नष्ट कर दिया जाता है।

 

कीमोथेरपी

त्वचा कैंसर और अन्य तरह के कैंसर के लिए भी यह सबसे अधिक इस्तेमाल की जाने वाली प्रक्रिया है जिसमें व्यक्ति का इलाज 1 महीने तक चलता है और लोशन क्रीम से त्वचा के कैंसर की कोशिकाओं को हटा दिया जाता है। लेकिन कीमोथेरेपी में अधिक समय लगता है और इसका इलाज बहुत प्रभावी माना जाता है।

 

फ्रीज़िंग

इस प्रक्रिया में डॉक्टर मरीज की त्वचा की प्रारंभिक कैंसर कोशिकाओं को तरल नाइट्रोजन के साथ जमा करके नष्ट कर देते हैं। फिर जैसे ही त्वचा की ऊतक पिघलने लगती हैं, हमारे शरीर से सभी कैंसर कोशिकाएं बाहर निकल जाती हैं। इससे मरीज बहुत जल्द ही स्किन कैंसर से  ठीक हो सकता है।

 

बायोलॉजिकल थेरपी

मानव शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए बायोलॉजिकल थेरेपी का इस्तेमाल किया जाता है। यह हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करता है और बढ़ाता है। ऐसा होने पर हमारे शरीर को कैंसर कोशिकाओं को अपने आप खत्म करने में मदद मिलती है।

 

क्रायोथेरेपी

क्रायोथेरेपी में तरल नाइट्रोजन का उपयोग त्वचा के कैंसर को स्थिर करने के लिए किया जाता है। इलाज के बाद मृत कोशिकाएं धीमी हो जाती हैं। एक्टिनिक केराटोसिस नामक प्रीकैंसरस त्वचा के घाव, और त्वचा की ऊपरी परत तक सीमित अन्य छोटे, प्रारंभिक कैंसर का इलाज इस तरीके से किया जा सकता है।

  क्या वाकई अमीर लोगों को ज्यादा होता है स्किन कैंसर का खतरा? स्टडी में हुआ खुलासा

 

मोहस सर्जरी

मोहस सर्जरी केवल रोगग्रस्त ऊतक को हटाती है, जितना संभव हो सके आसपास के सामान्य ऊतक को बचाती है। इसका उपयोग अक्सर बेसल सेल और स्क्वैमस सेल कैंसर और संवेदनशील (sensitive) या कॉस्मेटिक रूप से महत्वपूर्ण क्षेत्रों, जैसे कि पलकें, कान, होंठ, माथे, खोपड़ी, उंगलियों या जननांग क्षेत्र के इलाज के लिए किया जाता है।

 

 

त्वचा कैंसर के कारण क्या है? (What is the cause of skin cancer in Hindi)

 

 

अधिकांश त्वचा कैंसर के मामलो में प्रतिरक्षा प्रणाली या म्युटेशनल रिपेयर मैकेनिज्म (mutational repair mechanisms) को इस कैंसर का कारण माना जाता है। जब प्रतिरक्षा प्रणाली पर बुरा असर पड़ता है, तो इसका परिणाम खराब कोशिकाओं के विकास में होता है जो अंततः एक ट्यूमर में विकसित होती हैं। त्वचा कैंसर में शामिल सबसे आम जोखिम कारक हैं:

 

  • धूप के संपर्क में रहना

 

 

  • शरीर में अधिक मात्रा में मस्सों का होना

 

  • कैंसर की फेमिली हिस्ट्री का होना

 

 

त्वचा कैंसर का निदान कैसे किया जाता है? (How is skin cancer diagnosed in Hindi)

 

सबसे पहले, आपका त्वचा विशेषज्ञ आपसे पूछ सकता है कि क्या आपने किसी मौजूदा तिल, झाई या अन्य त्वचा के धब्बे में कोई बदलाव देखा है या यदि आपने कोई नई त्वचा में कुछ बदलाव देखा है। इसके बाद, आपका त्वचा विशेषज्ञ आपकी खोपड़ी, कान, आपके हाथों की हथेलियों, आपके पैरों के तलवों, आपके पैर की उंगलियों के बीच, आपके जननांगों के आसपास और आपके नितंबों के बीच आपकी पूरी त्वचा की जांच करेगा।

यदि त्वचा में होने वाला घाव ठीक नहीं हो रहा है, तो बायोप्सी की जा सकती है। बायोप्सी में, ऊतक का एक नमूना लिया जाता है और एक रोगविज्ञानी द्वारा माइक्रोस्कोप के तहत इसकी जांच एक प्रयोगशाला में की जाती है। आपका त्वचा विशेषज्ञ आपको बताएगा कि क्या आपकी त्वचा का घाव त्वचा कैंसर है या नहीं, आपके पास किस प्रकार का कैंसर है और उपचार के विकल्पों क्या होंगे।

  Parenting Tips: Teach children these lessons on the occasion of Janmashtami, it will be healthy for life

 

त्वचा कैंसर के लिए सबसे अधिक जोखिम किन लोगों को होता है? (Who is at highest risk for skin cancer in Hindi)

 

त्वचा का कैंसर होने का खतरा हो सकता है जिन्हें:

 

  • जो लोग ज्यादा समय तक धूप में रहते हैं

 

  • सनबर्न का इतिहास होना

 

  • अधिक गर्म वाले वातावरण में रहना

 

  • टैन या टैनिंग बेड का इस्तेमाल करना

 

  • हल्के रंग की आंखें, गोरे या लाल बाल और गोरी या झाईदार त्वचा होना

 

  • शरीर पर कई तिल या अनियमित आकार के तिल होना

 

  • एक्टिनिक केराटोसिस (पूर्व कैंसर की त्वचा की वृद्धि जो खुरदरी, पपड़ीदार, गहरे गुलाबी से भूरे रंग के पैच हैं)

 

  • त्वचा कैंसर का पारिवारिक इतिहास होना

 

 

  • ऐसी दवाएं लें जो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर कर रही हो

 

  • एक्जिमा या सोरायसिस जैसी त्वचा की स्थितियों के इलाज करवाना

 

यदि आप त्वचा का कैंसर का इलाज कराना चाहते हैं या इससे सम्बंधित किसी भी तरह की जानकारी हासिल करना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें या आप हमसे व्हाट्सएप (+91 9599004311) पर संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा आप हमारी सेवाओं के संबंध में हमें [email protected] पर ईमेल भी कर सकते हैं। हमारी टीम जल्द से जल्द आपसे संपर्क करेगी। हम आपका सबसे अच्छे हॉस्पिटल में इलाज कराएंगे।

Doctor Consutation Free of src=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।


 

 



Source link

Leave a Comment