थैलेसीमिया का ट्रीटमेंट कैसे होता हैं, इसका इलाज किस अस्पताल में कराएं


यदि किसी व्यक्ति को थैलेसीमिया है, तो उसका शरीर कम स्वस्थ हीमोग्लोबिन प्रोटीन का उत्पादन करता है, और उसकी अस्थि मज्जा (Bone marrow) कम स्वस्थ लाल रक्त कोशिकाओं का उत्पादन करती है। लाल रक्त कोशिकाओं के कम होने की स्थिति को एनीमिया कहा जाता है। चूंकि लाल रक्त कोशिकाएं (blood cells) आपके शरीर के ऊतकों तक ऑक्सीजन पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं, इसलिए अपर्याप्त स्वस्थ लाल रक्त कोशिकाएं आपके शरीर की कोशिकाओं को ऑक्सीजन से वंचित कर सकती हैं, जिनकी उन्हें ऊर्जा बनाने और पनपने (flourish) के लिए आवश्यकता होती है। इन सभी स्थितियों के परिणामस्वरूप व्यक्ति को कई शारीरिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

 

 

 

 

 

थैलेसीमिया दो प्रकार के होते हैं-

 

 

अल्फा थैलेसीमिया: थैलेसीमिया तब होता है जब कुछ या सभी अल्फा-ग्लोबिन जीन में समस्या होती है। आम तौर पर, प्रत्येक व्यक्ति में अल्फा ग्लोबिन के लिए चार जीन होते हैं। अल्फा थैलेसीमिया तब होता है जब अल्फा ग्लोबिन के निर्माण को नियंत्रित करने वाले एक या अधिक जीन अनुपस्थित या दोषपूर्ण होते हैं।

 

बीटा थैलेसीमिया रोग: बीटा थैलेसीमिया तब होता है जब एक या दोनों बीटा-ग्लोबिन जीन में समस्या होती है। यह थैलेसीमिया का सबसे आम प्रकार है। बीटा थैलेसीमिया में, सामान्य वयस्क हीमोग्लोबिन (HBA) का उत्पादन कम हो जाता है, जो जन्म से मृत्यु तक हमारे शरीर में हीमोग्लोबिन का प्रमुख प्रकार है। बीटा थैलेसीमिया वाले लोगों में, हीमोग्लोबिन के निम्न स्तर से शरीर के कई हिस्सों में ऑक्सीजन की कमी हो जाती है। बीटा हीमोग्लोबिन श्रृंखला बनाने में दो जीन शामिल होते हैं।

  Doctors Weigh In on the Exercise Habits That Slow Aging — Eat This Not That

 

 

 

थैलेसीमिया के लक्षण क्या नज़र आते हैं? (Thalassemia symptoms in Hindi)

 

 

थैलेसिमिया के लक्षण यदि किसी व्यक्ति में नजर आयें तो आपको तुरंत चिकित्सक से संपर्क करना चाहिए. इसके लक्षणों में थकान, कमजोरी महिलाओं की कमजोरी और थकान के कारण, लक्षण और दूर करने के उपाय, पीलापन और धीमा विकास प्रमुख हैं. आइए अब थैलेसिमिया के लक्षणों पर एक नजर डालें –

 

 

  • थकान और थकावट

 

 

 

 

 

 

 

 

थैलेसीमिया का इलाज कैसे होता है? (Thalassemia treatment in Hindi)

 

 

थैलेसीमिया का उपचार तीन तरीके से किया जाता है। कौन सा उपचार उस व्यक्ति के स्वास्थ्य के लिए अच्छा होगा इसका निर्णय डॉक्टर करते हैं। थैलेसीमिया का उपचार कुछ जो इस प्रकार है :

 

ब्लड ट्रांसफूजन (Frequent blood transfusions): थैलेसीमिया के बहुत गंभीर मामलों में अक्सर ब्लड ट्रांसफूजन की आवश्यकता होती है। थैलेसीमिया के मरीज को ब्लड ट्रांसफूजन कुछ हफ्तों में करवाना पड़ता है। समय के साथ, ब्लड ट्रांसफूजन आपके रक्त में आयरन का निर्माण करता है, जो आपके हृदय, लिवर और अन्य अंगों को नुकसान पहुंचा सकता है। इसके लिए आपको अपने डॉक्टर से नियमित जांच करवाते रहना चाहिए।

 

केलेशन थेरेपी (Chelation therapy): इस थेरेपी में रक्त से अतिरिक्त आयरन को निकालने की प्रक्रिया की जाती है। नियमित ट्रांसफूजन के परिणामस्वरूप आयरन का निर्माण हो सकता है। थैलेसीमिया से पीड़ित कुछ लोग जिन्हें नियमित रूप से ट्रांसफूजन नहीं होता है, उनमें भी अतिरिक्त आयरन विकसित हो सकता है। अतिरिक्त आयरन को हटाना आपके स्वास्थ्य को बेहतर करने का एक तरीका है। मरीज के शरीर से अतिरिक्त आयरन को कम करने के लिए आपका डॉक्टर कुछ दवा लेने को भी कह सकते हैं।

  How Pacemaker Controls Heart Beat, Miss World Runner Up Getting Re-Surgery

 

स्टेम सेल ट्रांसप्लांट (Stem cell transplant) : आपको बता दें की इसे बोन मैरो ट्रांसप्लांट भी कहा जाता है, कुछ मामलों में स्टेम सेल ट्रांसप्लांट एक विकल्प हो सकता है। इस प्रक्रिया में एक डोनर से स्टेम कोशिकाओं को लिया जाता है और इसके लिए आपके परिवार में से किसी एक सदस्य को चुना जाता है।

 

 

 

भारत में थैलेसीमिया के इलाज की लागत कितनी हैं ? (Thalassemia treatment cost in India in Hindi)

 

 

थैलेसीमियाके इलाज की लागत मरीज की स्थिति पर निर्भर करती हैं तथा भारत के सभी अस्पतालों में थैलेसीमिया के इलाज की लागत INR 20,00,000 से INR 25,00,000 तक होती हैं। यदि आप कम लागत में थैलेसीमिया का इलाज करवाना चाहते हैं तो  यहाँ क्लिक करें।

 

 

 

भारत में थैलेसीमिया के इलाज के लिए अच्छे अस्पताल- (Best hospitals for thalassemia treatment in Hindi)

 

 

भारत में थैलेसीमिया के इलाज के लिए दिल्ली के अच्छे अस्पताल-

 

 

 

 

भारत में थैलेसीमिया के इलाज के लिए के गुरुग्राम अच्छे अस्पताल-

 

 

  The secret birth defect that made Richard Simmons a superstar — and a recluse

 

 

भारत में थैलेसीमिया के इलाज के लिए के चेन्नई अच्छे अस्पताल-

 

 

 

 

भारत में थैलेसीमिया के इलाज के लिए के मुंबई अच्छे अस्पताल-

 

 

 

 

 

 

यदि आप कम खर्च में थैलेसीमिया के ट्रीटमेंट की तलाश कर रहे हैं या इससे सम्बंधित किसी भी तरह की जानकारी हासिल करना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें आप हमसे व्हाट्सएप (+91 9599004311) पर संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा आप हमारी सेवाओं के संबंध में हमें [email protected] पर ईमेल भी कर सकते हैं। हमारी टीम जल्द से जल्द आपसे संपर्क करेगी।

Doctor Consutation Free of src=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।


 

 



Source link

Leave a Comment