दिल्ली में इन जगहों पर मिलता है खास शीरमाल रोटी, जानें इसे नवाब क्यों पसंद करते थे?



<p style="text-align: left;">शीरमाल रोटी, मुगलाई दावतों का ताज, अपनी मिठास और मलाईदार बनावट के साथ, खाने के शौकीनों के दिलों पर राज करती है. इसे मसालेदार निहारी के साथ या फिर कोरमा के साथ खाने का लुफ्त उठा सकते हैं. अगर आप वेजिटेरियन हैं, तो शाही पनीर और दाल मखनी के साथ इसका स्वाद ले सकते हैं. शीरमाल रोटी एक ऐसा नाम है जो नवाबी विरासत और शाही स्वाद की याद दिलाता है. मुगल शासन के दौरान पर्शिया से आई इस रोटी ने भारतीय रसोईघरों में एक खास स्थान बना लिया. आइए जानते हैं यह दिल्ली में कहां मिलता और इसको क्यों इतना पसंद किया जाता है.</p>
<div class="flex-1 overflow-hidden" style="text-align: left;">
<div class="react-scroll-to-bottom–css-qdvpe-79elbk h-full">
<div class="react-scroll-to-bottom–css-qdvpe-1n7m0yu">
<div class="flex flex-col pb-9 text-sm">
<div class="w-full text-token-text-primary" data-testid="conversation-turn-15">
<div class="px-4 py-2 justify-center text-base md:gap-6 m-auto">
<div class="flex flex-1 text-base mx-auto gap-3 md:px-5 lg:px-1 xl:px-5 md:max-w-3xl lg:max-w-[40rem] xl:max-w-[48rem] group final-completion">
<div class="relative flex w-full flex-col lg:w-[calc(100%-115px)] agent-turn">
<div class="flex-col gap-1 md:gap-3">
<div class="flex flex-grow flex-col max-w-full">
<div class="min-h-[20px] text-message flex flex-col items-start gap-3 whitespace-pre-wrap break-words [.text-message+&amp;]:mt-5 overflow-x-auto" data-message-author-role="assistant" data-message-id="7462bcf5-246a-4bb0-b544-8f635adac7ca">
<div class="markdown prose w-full break-words dark:prose-invert dark">
<p><strong>शीरमाल रोटी का इतिहास&nbsp;<br /></strong>शीरमाल रोटी, जिसकी जड़ें पर्शिया में हैं, मुगल साम्राज्य के दौरान भारतीय उपमहाद्वीप में आई. इसका नाम ‘शीर’ यानी दूध और ‘माल’ यानी मालामाल से मिलकर बना है, जो इसकी समृद्धि और शाही स्वाद को दर्शाता है. शीरमाल रोटी नवाबी और शाही रसोईघरों की शान बन गई, जहां इसे विशेष अवसरों और दावतों पर परोसा जाता था.&nbsp;</p>
<p><strong>दिल्ली में शीरमाल रोटी कहां मिलती है</strong><br />दिल्ली के पुराने बाजारों में, खासकर जामा मस्जिद के आस-पास और चांदनी चौक की गलियों में, कई दुकानें और रेस्तरां हैं जो शीरमाल रोटी परोसते हैं.&nbsp; इनमें से कुछ पुरानी दुकानें सैकड़ों वर्षों से इस पारंपरिक व्यंजन को बना रही हैं, जिनका स्वाद और गुणवत्ता बेजोड़ है. जामा मस्जिद के <span class="il">गेट</span> न.1 के सामने से एक सीधी गली जाती है इस गली का नाम बल्लीमारान है. यह गली खाने पीने के लिए बहुत ही प्रसिद्ध है. इन गलियों में शीरमल रोटी की काफी दूकानें हैं.&nbsp;&nbsp;</p>
<p><strong>नवाबों की पसंद का राज</strong><br />नवाबों द्वारा शीरमाल रोटी को पसंद किए जाने के कई कारण हैं. पहला, इसका अनूठा स्वाद और बनावट जो शाही भोजन के स्तर को सूट करता था. दूसरा, इसे बनाने में उच्च गुणवत्ता की सामग्री का उपयोग होता था, जो राजसी खानपान का प्रतीक था.</p>
<h4>शीरमाल रोटी के फयादे&nbsp;</h4>
<ul>
<li><strong>ऊर्जा का स्रोत</strong>: शीरमाल रोटी में उच्च मात्रा में कार्बोहाइड्रेट होता है, जो इसे एक अच्छा ऊर्जा स्रोत बनाता है। यह विशेष रूप से सर्दियों के मौसम में, जब शरीर को अधिक ऊर्जा की आवश्यकता होती है, बहुत फायदेमंद होता है.</li>
<li><strong style="font-family: -apple-system, BlinkMacSystemFont, ‘Segoe UI’, Roboto, Oxygen, Ubuntu, Cantarell, ‘Open Sans’, ‘Helvetica Neue’, sans-serif;">पाचन में सहायक</strong><span style="font-family: -apple-system, BlinkMacSystemFont, ‘Segoe UI’, Roboto, Oxygen, Ubuntu, Cantarell, ‘Open Sans’, ‘Helvetica Neue’, sans-serif;">: शीरमाल में मौजूद घी की थोड़ी मात्रा पाचन को सहायता प्रदान करती है. घी एक स्वस्थ वसा है जो पाचन तंत्र को स्मूथ रखने में मदद करता है.</span></li>
<li><strong style="font-family: -apple-system, BlinkMacSystemFont, ‘Segoe UI’, Roboto, Oxygen, Ubuntu, Cantarell, ‘Open Sans’, ‘Helvetica Neue’, sans-serif;">&nbsp;पौष्टिक</strong><span style="font-family: -apple-system, BlinkMacSystemFont, ‘Segoe UI’, Roboto, Oxygen, Ubuntu, Cantarell, ‘Open Sans’, ‘Helvetica Neue’, sans-serif;">: शीरमाल रोटी न सिर्फ स्वाद में रिच होती है बल्कि यह भूख को लंबे समय तक शांत रखने में भी सहायक होती है। इसके सेवन से आपको लंबे समय तक संतुष्टि का अहसास होता है, जिससे बेवजह की भूख से बचा जा सकता है।</span></li>
<li><strong style="font-family: -apple-system, BlinkMacSystemFont, ‘Segoe UI’, Roboto, Oxygen, Ubuntu, Cantarell, ‘Open Sans’, ‘Helvetica Neue’, sans-serif;">खुशबू और स्वाद का अनूठा मिश्रण</strong><span style="font-family: -apple-system, BlinkMacSystemFont, ‘Segoe UI’, Roboto, Oxygen, Ubuntu, Cantarell, ‘Open Sans’, ‘Helvetica Neue’, sans-serif;">: शीरमाल रोटी में इस्तेमाल किए जाने वाले दूध और घी की मिठास इसे एक अनूठा स्वाद और खुशबू प्रदान करती है. यह विशेष रूप से मीठे व्यंजनों के शौकीन लोगों के लिए एक विकल्प है.&nbsp;</span></li>
</ul>
</div>
</div>
</div>
<div class="mt-1 flex justify-start gap-3 empty:hidden"><strong>ये भी पढ़ें:&nbsp;<a title="Budget 2024: सर्वाइकल कैंसर पर रोक के लिए सरकार का बड़ा फैसला, अब 9-14 साल की लड़कियों को लगेगी फ्री वैक्सीन" href="https://www.abplive.com/business/budget/the-government-is-working-towards-providing-cervical-cancer-vaccine-for-9-to14-year-old-2600405" target="_self">Budget 2024: सर्वाइकल कैंसर पर रोक के लिए सरकार का बड़ा फैसला, अब 9-14 साल की लड़कियों को लगेगी फ्री वैक्सीन</a></strong></div>
</div>
</div>
</div>
</div>
</div>
<button class="cursor-pointer absolute z-10 rounded-full bg-clip-padding border text-token-text-secondary dark:border-white/10 dark:bg-white/10 right-1/2 border-black/10 bg-token-surface-primary bottom-5"></button></div>
</div>
</div>
</div>
<div class="w-full pt-2 md:pt-0 dark:border-white/20 md:border-transparent md:dark:border-transparent md:w-[calc(100%-.5rem)]"><form class="stretch mx-2 flex flex-row gap-3 last:mb-2 md:mx-4 md:last:mb-6 lg:mx-auto lg:max-w-2xl xl:max-w-3xl">
<div class="relative flex h-full flex-1 items-stretch md:flex-col">
<div>
<div class="h-full flex ml-1 md:w-full md:m-auto md:mb-4 gap-0 md:gap-2 justify-center" style="text-align: left;">&nbsp;</div>
</div>
</div>
</form></div>



Source link

  हल्दी पाउडर से ज्यादा फायदेमंद होती है कच्ची हल्दी, जानें इसका उपयोग कैसे करें

Leave a Comment