पेनिस कैंसर के कारण और इसका इलाज किस हॉस्पिटल में कराएं – GoMedii


पेनिस कैंसर पुरुषों में होने वाली बड़ी समस्या होती है, जिसका इलाज सही समय पर करना बहुत जरूरी है। पेनिस कैंसर लिंग के कार्यों को प्रभावित कर सकता है। यह समस्या यौन रोग, मूत्र पथ के संक्रमण और अन्य गंभीर समस्याओं का कारण बनती है। अगर समय रहते इस समस्या का निदान कर लिया जाए तो इसका इलाज सफलतापूर्वक किया जा सकता है। पेनाइल कैंसर से सम्बंधित यदि आपके कोई भी सवाल हैं तो आप डॉक्टर से सीधे संपर्क कर सकते हैं इसके लिए यहाँ क्लिक करें। पेनाइल कैंसर के कारणों के बारे में जानना आपके लिए बहुत जरुरी है।

 

 

 

पेनिस कैंसर (penile cancer) के कारणों में वृद्धि कर रहे हैं जैसे:

 

  • फिमोसिस (Phimosis)

 

 

  • सिगरेट या धूम्रपान का सेवन भी कैंसर को बढ़ाता है

 

  • स्वच्छता का ध्यान न रखना

 

 

 

पेनिस कैंसर के लक्षण क्या हैं? (What are the symptoms of penis cancer in Hindi)

 

पेनिस कैंसर का पहला ध्यान देने योग्य लक्षण आमतौर पर पेनिस पर गांठ, द्रव्यमान या अल्सर होता है। यह एक छोटे, महत्वहीन टक्कर या एक बड़े, संक्रमित घाव की तरह लग सकता है। ज्यादातर मामलों में, यह लिंग के शाफ्ट के बजाय सिर या चमड़ी पर स्थित होगा। पेनाइल कैंसर के अन्य लक्षणों में शामिल हो सकते हैं:

 

  • खुजली होना

 

 

 

  • पेनिस के रंग में परिवर्तन

 

  • पेनिस की त्वचा मोटी होना

 

 

  • पेनिस की त्वचा लाल होना

 

 

पेनिस कैंसर के ट्रीटमेंट के लिए बेस्ट हॉस्पिटल? (Best hospital for penis cancer treatment in Hindi)

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

  Lacking health workers, Germany taps robots for elder care - ET HealthWorld

यदि आप इनमें से किसी भी अस्पताल में इलाज करवाना चाहते हैं तो हमसे व्हाट्सएप (+91 9599004311) पर संपर्क कर सकते हैं।

 

 

पेनिस कैंसर के प्रकार (types of penis cancer in Hindi)

 

लिंग का कैंसर एक प्रकार के त्वचा कैंसर के रूप में शुरू होता है। यह निम्नलिखित रूपों में हो सकता है:

 

 

  • स्क्वैमस सेल कार्सिनोमा (एससीसी)

 

  • वरकूस कार्सिनोमा

 

 

 

  • एडेनोस्क्वैमस कार्सिनोमा

 

 

पेनिस कैंसर क्या है? (What is penis cancer in Hindi)

 

पेनिस कैंसर एक ऐसी बीमारी है जिसमें लिंग की कोशिकाएं अनियंत्रित रूप से बढ़ने लगती हैं और ट्यूमर का रूप ले लेती हैं। यह लिंग की त्वचा और ऊतकों को नुकसान पहुंचाता है। यह अपेक्षाकृत दुर्लभ प्रकार का कैंसर है।

पेनिस कैंसर आमतौर पर लिंग की त्वचा या चमड़ी की कोशिकाओं में शुरू होता है, जो शरीर के अन्य क्षेत्रों में भी फैल सकता है, जिसमें लिम्फ नोड्स, ग्रंथियां और अन्य अंग शामिल हैं। इस प्रकार का कैंसर अत्यंत दुर्लभ है। पेनाइल कैंसर का अगर शुरुआती स्टेज में पता चल जाए तो इसका इलाज काफी आसान है।

 

 

पेनिस कैंसर के चरण (stages of penis cancer in Hindi)

 

कैंसर का चरण डॉक्टर को पता लगाने में मदद करता हैं कि कैंसर कितना गंभीर है और कैंसर की वर्तमान स्थिति क्या है। इसके चरणों में शामिल है :

 

 

 

 

 

 

 

 

पेनिस कैंसर का निदान कैसे किया जाता है? (How is Penis Cancer Diagnosed in Hindi)

 

एक डॉक्टर कुछ नैदानिक परीक्षण करके पेनाइल कैंसर का निदान कर सकता है, जिसमें शामिल हैं:

 

  • शारीरिक परीक्षा

 

 

 

 

  • पीईटी स्कैन
  Healthy Food Choices: How to Choose Healthy Food in a Junk-Food World

 

 

 

 

पेनिस कैंसर का इलाज कैसे किया जाता है? (What are the treatment options for penis cancer in Hindi)

 

पेनाइल कैंसर के दो मुख्य प्रकार इनवेसिव और नॉन-इनवेसिव हैं। नॉन-इनवेसिव पेनाइल कैंसर एक ऐसी स्थिति है जिसमें कैंसर गहरे ऊतकों, लिम्फ नोड्स या ग्रंथियों तक नहीं फैलता है। इनवेसिव पेनाइल कैंसर एक ऐसी स्थिति है जिसमें कैंसर लिंग के ऊतकों और आसपास के लिम्फ नोड्स और ग्रंथियों तक चला जाता है।

 

नॉन-इनवेसिव पेनाइल कैंसर के कुछ मुख्य उपचारों में शामिल हैं:

 

  • सिरकमसिजन (Circumcision): पेनिस की त्वचा को हटा दिया जाता है।

 

  • लेजर थेरेपी (Laser therapy): लेजर थेरेपी का उच्च प्रकाश ट्यूमर और कैंसर कोशिकाओं को नष्ट कर देता हैं।

 

  • कीमोथेरेपी (Chemotherapy): कीमोथेरेपी एक मरीज के शरीर में कैंसर कोशिकाओं को खत्म करने में मदद करता है।

 

  • इम्यूनोथेरेपी (Immunotherapy): इम्यूनोथेरेपी में कैंसर कोशिकाओं के खिलाफ मरीज के शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाया जाता है।

 

  • रेडिएशन थेरेपी (Radiation therapy): उच्च ऊर्जा विकिरण ट्यूमर को सिकोड़ता है और कैंसर कोशिकाओं को मारता है।

 

  • क्रायोसर्जरी (Cryosurgery): लिक्विड नाइट्रोजन ट्यूमर को जमा देता है और उन्हें हटा देता है।

 

सर्जरी के विकल्पों में निम्नलिखित शामिल हैं:

 

एक्सिजनल सर्जरी

लिंग से ट्यूमर को हटाने के लिए एक्सिजनल सर्जरी की जा सकती है। आपको क्षेत्र को सुन्न करने के लिए एक स्थानीय संवेदनाहारी दी जाएगी।  ताकि मरीज को कोई दर्द महसूस न हो। तब आपका सर्जन स्वस्थ ऊतक और त्वचा की सीमा को छोड़कर ट्यूमर और प्रभावित क्षेत्र को हटा देगा। उसके बाद डॉक्टर चीरा को टांके लगाकर बंद कर दिया जाएगा।

 

मोह सर्जरी

मोह सर्जरी का लक्ष्य सभी कैंसर कोशिकाओं को हटाता है। इस प्रक्रिया के दौरान, आपका सर्जन प्रभावित क्षेत्र की एक पतली परत को हटा देगा। फिर वे यह निर्धारित करने के लिए माइक्रोस्कोप के तहत इसकी जांच करेंगे कि इसमें कैंसर कोशिकाएं हैं या नहीं। यह प्रक्रिया तब तक दोहराई जाती है जब तक कि ऊतक के नमूनों में कोई कैंसर कोशिकाएं मौजूद न हों।

  Colorectal cancer: Plant-based diet linked to lower risk in men

 

पार्शियल पेनेक्टॉमी (Partial penectomy)

पार्शियल पेनेक्टॉमी में पेनिस के कुछ हिस्से को हटा देता है। ट्यूमर छोटा होने पर यह ऑपरेशन सबसे अच्छा विकल्प होता है। बड़े ट्यूमर के लिए, पूरे लिंग को हटाया जा सकता है। लिंग को पूरी तरह से हटाना टोटल पेनेक्टॉमी कहलाता है।

 

यदि आप कम खर्च में पेनिस कैंसर के इलाज की तलाश कर रहे हैं या इससे सम्बंधित किसी भी तरह की जानकारी हासिल करना चाहते हैं तो डॉक्टर से कंसल्ट करें या आप हमसे व्हाट्सएप (+91 9599004311) पर संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा आप हमारी सेवाओं के संबंध में हमें [email protected] पर ईमेल भी कर सकते हैं। हमारी टीम जल्द से जल्द आपसे संपर्क करेगी।

Doctor Consutation Free of src=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।


 

 



Source link

Leave a Comment