प्रोटीनूरिया क्या है – जाने इसके लक्षण और होने के जोखिम कारक – GoMedii


प्रोटीनूरिया (प्रोटीनमेह) की समस्या में, मूत्र में प्रोटीन की असामान्य मात्रा होती है। प्रोटीनूरिया के अन्य कारणों में मधुमेह, किडनी संक्रमण या अन्य प्रकार की किडनी की सूजन शामिल हैं। प्रोटीनुरिया का कारण बनने वाली स्थितियां एक गंभीर स्थिति यह भी है की यह किडनी की बीमारी का कारण बन सकती हैं।

 

हर किसी के खून में प्रोटीन होता है। आपके रक्त में मुख्य प्रोटीन को एल्बुमिन कहा जाता है। आपके शरीर में प्रोटीन के कई महत्वपूर्ण काम हैं, जैसे आपकी हड्डियों और मांसपेशियों को बनाने में मदद करना, संक्रमण को रोकना और आपके रक्त में तरल पदार्थ की मात्रा को नियंत्रित करना।

 

स्वस्थ किडनी आपके रक्त से अतिरिक्त तरल पदार्थ और अपशिष्ट को निकालते हैं। जब आपका किडनी सही से काम नहीं कर रहा हैं, तो उन्हें अपने मूत्र में कुछ प्रोटीन (एल्ब्यूमिन) को अपने फिल्टर के माध्यम से निकलने दे सकते हैं। जब आपके मूत्र में प्रोटीन होता है, तो इसे प्रोटीन्यूरिया (या एल्बुमिनुरिया) कहा जाता है। आपके मूत्र में प्रोटीन का होना नेफ्रोटिक सिंड्रोम का संकेत हो सकता है, या किडनी की बीमारी का शुरुआती संकेत हो सकता है। यदि आप इस बीमारी से सम्बंधित किसी भी तरह का सवाल पूछना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें

 

 

प्रोटीनूरिया के जोखिम कारक हैं

 

 

 

  • किडनी की बीमारी का पारिवारिक इतिहास

 

 

कैसे पता चलेगा कि यूरिन में प्रोटीन है?

 

 

जब आपके किडनी में पहली बार समस्या हो रही हो, और आपके यूरिन में बहुत अधिक प्रोटीन नहीं है, तो आप किसी भी लक्षण को नोटिस नहीं करेंगे। आपके यूरिन में प्रोटीन है या नहीं, यह जानने का एकमात्र तरीका यूरिन जांच है। इसे यूरिन एल्ब्यूमिन-टू-क्रिएटिनिन अनुपात (UACR) कहा जाता है। यूएसीआर 30 mg/g से अधिक किडनी की बीमारी का संकेत हो सकता है।

  Aging Parents And Mental Health-Can’t We Do Better?

 

यूरिन में प्रोटीन पता करने के निम्नलिखित लक्षण

 

  • आपके हाथ, पैर, पेट या चेहरे पर सूजन हो जाये ,

 

  • यूरिन में झाग आना ,

 

यदि आपको ये लक्षण दिखाई दे रहे हैं, तो आपकी किडनी खराब हो सकती है। आप डॉक्टर से तुरंत संपर्क करे और उनसे इन लक्षण के बारे में बताये और आप उनसे  पूछे कौन सा उपचार सबसे अच्छा है।

 

 

प्रोटीनूरिया के लक्षण

 

 

  • पेशाब करने में कठिनाई (डिसुरिया),

 

  • पेशाब करने में असमर्थता,

 

  • सांस लेने में कठिनाई (डिस्नेनी),

 

  • सांस की तकलीफ,

 

  • सुस्ती या परिवर्तित मानसिक स्थिति,

 

 

  • मतली और उल्टी,

 

  • आंखों के आसपास टखनों और फुंसियों में सूजन,

 

  • मुंह में अप्रिय स्वाद,

 

  • भूख कम लगना,

 

  • लगातार उच्च रक्तचाप,

 

 

  • सूखी, खुजलीदार त्वचा,

 

प्रोटीनूरिया के लक्षण कुछ लोगों में दीखते नहीं है । हालांकि, अगर आपको प्रोटीनूरिया है, तो आप यूरिन की जांच से पता लगा सकते है , या आपको शरीर में सूजन (एडिमा) का अनुभव हो सकता है। आमतौर पर यूरिन जांच से प्रोटीन का पता लगाया जाता है।

 

प्रोटीनूरिया एक गंभीर समस्या  है, जो की एक गंभीर समस्या पैदा कर सकता है। इससे किडनी इन्फेक्शन, और क्रोनिक किडनी फेल होने जैसी समस्या भी हो सकती है। यदि आपको ऐसे कोई भी लक्षण देखने को मिलते हैं तो आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए, इसके लिए आप हमारे डॉक्टर से भी संपर्क कर सकते हैं। डॉक्टर से संपर्क करने के लिए  यहाँ क्लिक करें

 

 

कैसे करे प्रोटीनूरिया का इलाज 

 

  All About Coronavirus XE Variant as COVID-19 Cases Rise in Delhi-NCR

 

यदि आपको मधुमेह या उच्च रक्तचाप है, तो यह किडनी की बीमारी होने का सबसे आम कारण, और इसे नियंत्रित करना बहुत जरुरी है, जिससे आपको इस समस्या से जल्दी छुटकारा मिल सके।

 

यदि आपको डायबिटीज है, तो इसे नियंत्रित करने के लिए आप अपने ब्लड शुगर की अक्सर जाँच कराते रहे, डॉक्टर की सलाह के अनुसार दवाइयाँ लेते रहे, साथ ही अपने खान-पान का भी ध्यान रखे और व्यायाम भी करे । यदि आपको उच्च रक्तचाप है, तो आप इसे कम करने के लिए दवा ले, ऐसा करने से आप किडनी की बिमारी से बच सकते है ।

 

 

प्रोटीनूरिया और रक्तचाप जैसी रोगो को नियंत्रित करने की दवाइयाँ

 

 

  • एंजियोटेंसिन-कनवर्टिंग एंजाइम इनहिबिटर (एसीई इनहिबिटर), और

 

  • एंजियोटेंसिन रिसेप्टर ब्लॉकर्स (एआरबी) कहा जाता है।

 

यदि आपके यूरिन में प्रोटीन है, लेकिन आपको मधुमेह या उच्च रक्तचाप नहीं है, तो एसीई अवरोधक या एआरबी आपके किडनी को नुकसान से बचाने में मदद कर सकता है, तो आप इसे डॉक्टर की सलह ले कर इन दवाइयों को ले, ऐसा करने से आप प्रोटीनूरिया जैसी बीमारी से जल्दी ठीक हो सकते है।

 

 

अगर ऊपर दिए गए लक्षणों में से आपको किसी का भी अनुभव हो , तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें, हो सकता है ये प्रोटीनूरिया होने के लक्षण हो। और यह किडनी की बीमारी का संकेत भी हो सकता हैं, जो क्रोनिक किडनी फेल होने का कारण भी बन सकता हैं। इसलिए डॉक्टर से आप समय-समय पर जांच कराते रहे। यदि आप इस बीमारी के इलाज से सम्बंधित किसी भी तरह की जानकारी या सवाल पूछना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें या आप हमसे इस व्हाट्सएप नम्बर (+91 9599004311) पर संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा आप हमारी सेवाओं के संबंध में हमें [email protected] पर ईमेल भी कर सकते हैं। हमारी टीम जल्द से जल्द आपसे संपर्क करेगी।

  AI making waves in ophthalmology: GlobalData - ET HealthWorld

 

Doctor Consutation Free of src=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।


 

 



Source link

Leave a Comment