बढ़ती उम्र के साथ ही बूढ़ा होने लगता है दिमाग, याद्दाश्त को बनाना है तेज तो करें ये काम


How To Boost Memory: बढ़ती उम्र के साथ जिस तरह शरीर उम्रदराज होता है, उसी तरह दिमाग पर भी असर पड़ना लाजमी होता है. उम्र के बढ़ने के साथ दिमाग की कार्यक्षमता पर असर होता है और दिमाग चीजों को याद करने की क्षमता खोने लगता है. ऐसे में व्यक्ति अक्सर छोटी बड़ी बातों को भूलने लगता है. बातों को भूलने और याद करने की कोशिश में इंसान अपने आप पर गुस्सा निकालने लगता है और इसका भी दिमाग पर बुरा असर पड़ता है. हेल्थ एक्सपर्ट कहते हैं कि अगर सही लाइफस्टाइल अपनाया जाए तो बढ़ती उम्र में भी दिमाग को एक्टिव और दुरुस्त रखा जा सकता है. चलिए जानते हैं लाइफस्टाइल से जुड़े कुछ ऐसे ही तरीके जिनकी मदद से उम्रदराज होने पर भी आपकी याद्दाश्त मजबूत रह सकती है. 

 

बढ़ती उम्र में इन तरीकों से रखें मेमोरी को मजबूत   

व्यायाम यानी एक्सरसाइज ऐसी चीज है जो केवल तन ही नहीं मन को भी जवां बनाए रखती है. ऐसे में सुबह शाम की एक्सरसाइज आपके दिमाग को तंदुरुस्त  बनाए रखेगी. एक्सरसाइज का उम्र से कोई लेना देना नहीं है, आप किसी भी उम्र के हैं, आपको एक्सरसाइज जरूर करनी चाहिए. रही बात समय की तो आपको जब समय मिले, आप एक्सरसाइज करके अपने शरीर के साथ साथ दिमाग को एक्टिव बनाए रख सकते हैं. सुबह जल्दी उठने और रात को जल्दी सोने की आदत डालेंगे तो आपको एक्सरसाइज के लिए पर्याप्त समय और ऊर्जा मिलेगी. इससे आपका ब्रेन एक्टिव रहेगा और आपकी याद्दाश्त भी जवां बनी रहेगी. 

  क्या प्रदूषण में कपालभाति जैसे प्राणायाम करने चाहिए?

 

नया सीखने और पढ़ने की आदत डालिए

सीखने की आदत डालकर आप अपने दिमाग को एक्टिव बनाए रख सकते हैं. सीखने और पढ़ने की कोई उम्र नहीं होती. आप अपनी बिजी लाइफ में भी पढ़ने और कुछ नया सीखने की आदत डेवलप करके अपने दिमाग को मजबूत बनाए रख सकते हैं. कोई नया शौक, नई पसंद डेवलप कीजिए. इससे माइंड बिजी और एक्टिव रहेगा. आपका मन भी लगेगा और आपकी याद्दाश्त भी मजबूत बनी रहेगी. आप म्यूजिक, स्पोर्ट्स, विदेशी भाषा या कोई भी नई चीज सीख सकते हैं. 

 

खेल खेल में दिमाग को कीजिए स्ट्रॉन्ग 

अगर आपको खेलना बच्चों का काम लगता है तो आप गलत है. खेल कूद से दिमाग एक्टिव होता है और मेमोरी बूस्ट होती है. दरअसल किसी भी तरह के इनडोर और आउटडोर खेल की बदौलत आपका दिमाग अपने आपको एक्टिव रख सकता है. आउटडोर खेलों में आप टीम वर्क, प्लानिंग और एक्जीक्यूशन सीखकर दिमाग को तेज कर सकते हैं. वहीं इनडोर गेम्स में आप पजल गेम, क्विज गेम और क्रॉस गेम की बदौलत दिमाग को सोचने पर मजबूर कर सकते हैं. 

 

लिखने की आदत करेगी मदद

रट्टा मारकर याद करने की आदत को आपके टीचर भी गलत कहते थे. वो सही थे, रट्टा मारकर कुछ भी याद नहीं होता, इसलिए लिखकर याद करने की आदत डालिए. कहते हैं कि लिखकर याद की गई चीज लंबे समय तक जेहन में बनी रहती है और उसकी याद्दाश्त कमजोर नहीं होती. ऐसे में अगर मेमोरी को शार्प करना है तो जरूरी चीजों को लिखने की आदत डालिए, जैसे फोन नंबर, अकाउंट नंबर, पासवर्ड आदि. इससे आपकी मेमोरी बूस्ट होगी.

  वजन कम करने के लिए रोजाना पीते हैं नींबू पानी तो छोड़ दें ये आदत, फिर ये दिक्कत हो जाएगी शुरू

 

यह भी पढ़ें 

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator



Source link

Leave a Comment