यूरिन इन्फेक्शन में भोजन: आहार जो नहीं खाना चाहिए


यूरिन इन्फेक्शन एक आम समस्या है जो किसी भी उम्र में हो सकती है। यदि समय पर इलाज न किया जाए तो यह गंभीर समस्याओं का कारण बन सकती है। यूटीआई से बचने और इसके लक्षणों को कम करने के लिए, एंटीबायोटिक दवाओं के साथ आहार और जीवनशैली में कुछ बदलाव आवश्यक हैं। जैसा कि इस लेख में वर्णित है, यूटीआई के दौरान कुछ खाद्य पदार्थ जैसे कैफीन, अल्कोहल, प्रोसेस्ड फूड, शुगर और मसालेदार भोजन से परहेज करना चाहिए।

 

पर्याप्त मात्रा में पानी पीना, क्रेनबेरी जूस और अन्य पेय लेना, व्यायाम करना और तनाव कम करने के लिए योग और ध्यान जैसी गतिविधियाँ करना फायदेमंद हो सकता है। डॉक्टर की सलाह के अनुसार एंटीबायोटिक दवाएँ लेना और फॉलो-अप पर जाना भी महत्वपूर्ण है। यूटीआई के इलाज और रोकथाम के लिए, स्वस्थ आहार, पर्याप्त तरल पदार्थ लेना और डॉक्टर की सलाह का पालन करना सबसे अच्छा तरीका है। इन सावधानियों को अपनाकर यूटीआई के प्रकोप को कम किया जा सकता है और शीघ्र स्वस्थ होने में मदद मिल सकती है।

 

 

 

 

 

यूरिन इन्फेक्शन (UTI) एक आम समस्या है, खासकर महिलाओं में। यह तब होता है जब बैक्टीरिया मूत्र मार्ग में प्रवेश करते हैं और संक्रमण पैदा करते हैं। UTI के लक्षणों में पेशाब करते समय जलन, बार-बार पेशाब करने की इच्छा, पेट के निचले हिस्से में दर्द और पेशाब में बदबू आना शामिल हो सकता है।

 

 

 

यूरिन इन्फेक्शन के लक्षण क्या होते हैं ? (urine infection symptoms in Hindi)

 

 

यूरिन इन्फेक्शन के निम्नलिखित लक्षण होते हैं जैसे की-

  RGCI completes preliminary trials for Make in India surgical robot - ET HealthWorld

 

 

  • पेशाब करते समय जलन या चुभन
  • बार-बार पेशाब करने की इच्छा, भले ही कम मात्रा में मूत्र निकले
  • पेशाब करने की तीव्र इच्छा
  • महिलाओं में योनि के आसपास खुजली या जलन
  • महिलाओं में योनि से सफेद या पीले रंग का स्राव
  • पेट के निचले हिस्से में दर्द या दबाव
  • बुखार
  • ठंड लगना
  • जी मिचलाना या उल्टी
  • मधुमेह हो जाना
  • कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली
  • मूत्र मूत्राशय को खाली करने में कठिनाई

 

 

यूरिन इन्फेक्शन में क्या नहीं खाना चाहिए ? (Urine infection main Kya Nahi Khana Chahiye in Hindi)

 

 

यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण सवाल है। यूरिन इन्फेक्शन में खाने-पीने की सही आदतें अत्यंत महत्वपूर्ण हैं। कुछ खाद्य पदार्थ होते हैं जो इस समस्या को और भी बढ़ा सकते हैं। यहां कुछ आहार हैं जिन्हें यूरिन इन्फेक्शन के समय नहीं खाना चाहिए:

 

 

1. कैफीन: कॉफी, चाय, सोडा और चॉकलेट में कैफीन होता है, जो मूत्राशय को उत्तेजित कर सकता है और पेशाब की आवृत्ति और जलन को बढ़ा सकता है।

 

2. शराब: शराब भी मूत्राशय को उत्तेजित करती है और निर्जलीकरण का कारण बन सकती है, जो UTI को बदतर बना सकती है।

 

3. मसालेदार भोजन: मसालेदार भोजन मूत्राशय को परेशान कर सकता है और UTI के लक्षणों को बढ़ा सकता है।

 

4. खट्टे फल और जूस: संतरे, अंगूर, नींबू और टमाटर जैसे खट्टे फल और जूस में एसिड होता है, जो मूत्राशय को परेशान कर सकता है।

 

5. कृत्रिम स्वीटनर: कृत्रिम स्वीटनर कुछ लोगों में मूत्राशय की जलन पैदा कर सकते हैं।

  Identify navel infection in time with these symptoms, ignoring may be costly!

 

6. प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ: प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों में अक्सर चीनी, नमक और अस्वास्थ्यकर वसा होती है, जो UTI को बदतर बना सकती है।

 

7. लाल मांस: लाल मांस में यूरिक एसिड होता है, जो मूत्र में क्रिस्टल बना सकता है और गुर्दे की पथरी का खतरा बढ़ा सकता है।

 

8. सूखे मेवे और बीज: सूखे मेवे और बीजों में ऑक्सालेट होते हैं, जो मूत्र में क्रिस्टल बना सकते हैं और गुर्दे की पथरी का खतरा बढ़ा सकते हैं।

 

 

 

इससे सम्बंधित किसी भी तरह की जानकारी हासिल करना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें या आप हमसे व्हाट्सएप (+91 9599004311) पर संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा आप हमारी सेवाओं के संबंध में हमें [email protected] पर ईमेल भी कर सकते हैं। हमारी टीम जल्द से जल्द आपसे संपर्क करेगी। हम आपका सबसे अच्छे हॉस्पिटल में इलाज कराएंगे।

Doctor Consutation Free of src=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।


 

 



Source link

Leave a Comment