लिवर ट्रांसप्लांट सर्जरी के बाद देखभाल कैसे करे – Best Hindi Health Tips (हेल्थ टिप्स), Healthcare Blog – News | GoMedii


आजकल के समय में अनियमित जीवनशैली और गलत खान-पान के कारण व्यक्तियों में लिवर से सम्बंधित अनेक समस्याएं देखने को मिल रही है। लिवर हमारे शरीर का महत्वपूर्ण अंग होता हैं, तथा यह हमारे शरीर से टॉक्सिक (Toxic) पदार्थो को फ़िल्टर करके बाहर निकालता हैं। लिवर की बीमारियों का इलाज पूर्णरूप से सम्बंधित होता हैं परन्तु अधिक गंभीर होने पर डॉक्टर लिवर ट्रांसप्लांट की सलाह देते हैं। आज हम इस लेख में लिवर ट्रांसप्लांट सर्जरी के बारे में बात करेंगे।

 

 

 

 

 

लिवर ट्रांसप्लांट सर्जरी एक सर्जिकल प्रक्रिया हैं। यह सर्जरी तब होती हैं, जब आपका लिवर पूरी तरह से डैमेज हो जाए और काम करना बंद कर दे। लिवर ट्रांसप्लांट सर्जरी में एक दाता (Donar) होता हैं ,जिससे की लिवर का कुछ हिस्सा लिया जाता हैं और उस हिस्से को लोब (Lobe) कहते हैं, उसके बाद खराब लिवर की जगह स्वस्थ लिवर को लगा दिया जाता हैं। लिवर ट्रांसप्लांट सर्जरी में लिवर को पूरा न लगाकर उसका कुछ हिस्सा इसलिए लगाया जाता हैं क्योकि स्वस्थ खान-पान और नियमित जीवनशैली से लिवर विकसित और मजबूत हो जाता हैं।

 

 

 

भारत में लिवर ट्रांसप्लांट सर्जरी का खर्च कितना आता हैं ?

 

भारत में लिवर ट्रांसप्लांट सर्जरी के लिए कई अच्छे अस्पताल उपलब्ध हैं परन्तु सर्जरी का खर्च सभी अस्पतालों में अलग-अलग होता हैं क्योकि वह चिकित्सक, सर्जन और अस्पताल पर निर्भर करता हैं। भारत में लिवर ट्रांसप्लांट सर्जरी का खर्च 20,00,000 से 30,00,000 तक होता हैं।

 

 

 

लिवर ट्रांसप्लांट सर्जरी की प्रक्रिया क्या होती हैं ?

 

  Woman With Mental Health Issues Tidies Her House That Once Looked Like Dumpyard

 

लिवर ट्रांसप्लांट के लिए डोनर उपलब्ध होना चाहिए। डोनर उपलब्ध होने पर डॉक्टर मरीज को सूचित करता है। अस्पताल में भर्ती कराया जाए ताकि पूरी जांच हो सके कि मरीज कैसा है और लिवर ट्रांसप्लांट को शुरू करने के लिए एक निश्चित समय दिया जाएगा, लिवर ट्रांसप्लांट होने से पहले मरीज और डोनर दोनों को एनेस्थीसिया दिया जाता हैं ताकि सर्जरी के दौरान जो दर्द होगा वो उन्हें कम से कम महसूस हो।

 

 

ट्रांसप्लांट करने के लिए पेट में एक लंबा चीरा लगाया जाता है तथा ख़राब लिवर को बाहर निकला जाता हैं और उसकी जगह पर स्वस्थ लिवर पूरा या फिर उसका कुछ हिस्सा लगाया जाता हैं सर्जरी के बाद, डॉक्टर सर्जिकल धागे और स्टेपल की मदद से पेट के चीरे को सील कर देता है। इसके बाद उन्हें आईसीयू में रखा जाता है। इस सर्जरी में 3 से 5 घंटे लग जाते हैं।

 

 

 

लिवर ट्रांसप्लांट सर्जरी के बाद देखभाल कैसे करें ?

 

 

लिवर ट्रांसप्लांट के बाद डॉक्टर मरीज को कुछ दिन अस्पताल में ही रखते हैं, ताकि मरीज की नियमित रूप से देखभाल हो सके और वह अपनी सामान्य स्थिति में आ जाए। इस दौरान मरीज को अपना ख्याल अवश्य रखना चाहिए और कुछ बातों का ध्यान भी रखना चाहिए जैसे की-

 

 

  • लिवर ट्रांसप्लांट के बाद, मरीज को आगे की निगरानी के लिए एक या दो दिन के लिए आईसीयू में रहने की सलाह दी जाती है, जिससे कि वह जल्दी रिकवर हो और अच्छा महसूस करने लगे।

 

 

  • लिवर ट्रांसप्लांट होने के बाद डॉक्टर कई दवाइयों का सेवन करने के लिए कहते हैं जो कि जीवनभर भी चलती हैं। यह दवाईयां इम्युनिटी सिस्टम को ठीक रखती हैं और लिवर रोग से बचने के लिए भी फायदेमंद रहती हैं।
  Woman who lost her periods for years due to disordered eating starts family by eating 'real food'

 

 

  • लिवर ट्रांसप्लांट के बाद मरीज को पूरी तरह से ठीक होने में छह महीने तक का समय लग सकता है। आप अपनी सामान्य गतिविधियों को फिर से शुरू कर सकते हैं और सर्जरी के कुछ महीने बाद अपने डॉक्टर के निर्णय के अनुसार काम पर वापस जा सकते हैं।

 

 

  • लिवर ट्रांसप्लांट होने के बाद स्वस्थ रहने के लिए व्यायाम, स्वस्थ भोजन खाने, अच्छी स्वच्छता बनाए रखने का प्रयास करे, यह सेहत के लिए अधिक लाभदायक रहेगा।

 

 

  • धूम्रपान और शराब से हमेशा दूरी बनाए रखे।

 

 

 

लिवर ट्रांसप्लांट सर्जरी के लिए अच्छे अस्पताल-

 

 

लिवर ट्रांसप्लांट सर्जरी के लिए दिल्ली के अच्छे अस्पताल।

 

 

 

लिवर ट्रांसप्लांट सर्जरी के लिए बैंगलोर के अच्छे अस्पताल।

 

 

 

लिवर ट्रांसप्लांट सर्जरी के लिए मुंबई के अच्छे अस्पताल।

 

 

 

लिवर ट्रांसप्लांट सर्जरी के लिए गुरुग्राम के अच्छे अस्पताल।

 

 

 

इससे सम्बंधित कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें। इसके अलावा आप प्ले स्टोर (play store) से हमारा ऐप डाउनलोड करके डॉक्टर से डायरेक्ट कंसल्ट कर सकते हैं। आप हमसे व्हाट्सएप (+91 9599004311) पर भी संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा आप हमारी सेवाओं के संबंध में हमे [email protected] पर ईमेल भी कर सकते हैं। हमारी टीम जल्द से जल्द आपसे संपर्क करेगी।

Doctor Consutation Free of src=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।

  Supplements: Docs warn of vitamin D ‘overdose’ risk after man hospitalised - his symptoms

 

 



Source link

Leave a Comment