घी और बटर में क्या फर्क है? दोनों में से कौन है ज्यादा हेल्दी



<p style="text-align: justify;">डाइटिंग के दौरान लोग अक्सर घी को इग्नोर कर देते हैं. क्योंकि उन्हें लगता है कि घी खाने से वो मोटे हो जाएंगे. &nbsp;लेकिन बीते कुछ सालों में घी को लेकर डाइटिशियन ने एक अलग नजरिया आज की यंग जेनरेशन के सामने रखा है. जिसकी वजह से आज के नौजवान भी घी आना पसंद करते हैं. लेकिन आज हम इस आर्टिकल के जरिए आपको बताएंगे कि घी और बटर दोनों से हेल्दी कौन है?</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>घी खाने से क्या सच में हड्डी हो जाता है मजबूत?</strong></p>
<p style="text-align: justify;">घी हमेशा से भारतीय किचन का इतिहास रहा है. दादी-नानी घर के बड़े-बुजुर्ग हमेशा कहते हैं कि बच्चों को घी जरूर खिलाओ ताकि हड्डी मजबूत हो. घी एक सुपरफूड की तरह है जो आपके पेट को हेल्दी रखता है. साथ ही साथ यह गुड फैट का अच्छा सोर्स है. घी पोषक तत्व से भरपूर होता है. कई रिसर्च में यह बात सामने आई है कि बच्चे रोजाना घी खा सकते हैं. क्योंकि घी खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करके अच्छा कोलेस्ट्रॉल को बढ़ावा देता है. ऐसे में सवाल यह उठता है कि क्या बटर घी से अच्छा है खराब?</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>सफेद मक्खन और अनसॉल्टेड मक्खन ही सेहत के लिए है अच्छा</strong></p>
<p style="text-align: justify;">मक्खन का नाम आते ही छोटे भगवान कृष्ण याद आ जाते हैं. लेकिन बटर में भी अनसाल्टेड सफेद मक्खन हेल्थ के लिए अच्छा होता है. सफेद मक्खन यानि घर के दूध से निकाला जाता है हम उसकी बात कर रहे हैं. मक्खन के पानी को आप छाछ या दूसरे किसी भी रूप में इस्तेमाल कर सकेत हैं. मार्केट में मिलने वाले मक्खन को पूरी तरह से प्रोसेस करके बनाया जाता है और इसमें नमक मिला दिया जाता है. ताकि यह काफी लंबे वक्त तक रह जाए.&nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>घी बनाम मक्खन: कौन सा अधिक हेल्दी है?</strong></p>
<p style="text-align: justify;">घी और मक्खन में पोषक तत्व भरपूर मात्रा में होते हैं. &nbsp;घी हेल्दी फैट होता है. इसमें विटामिन ए के साथ ओमेगा 3 फैटी एसिड भी होता है. फोर्टिफाइड बटर में विटामिन ए हो सकता है.<br />&nbsp;<br />घी और मक्खन में कैलोरी: मक्खन 51% हेल्दी फैट 71 प्रतिशत और 3 ग्राम अनहेल्दी के साथ प्रति 100 ग्राम 717 किलो कैलोरी प्रदान करता है. 100 ग्राम घी 60% हेल्दी फैट और बिल्कुल भी अनहेल्दी फैट के साथ 900 किलो कैलोरी प्रदान करता है. दुकान से घी खरीदते समय सुनिश्चित करें कि आपने लेबल ठीक से पढ़ा है. यदि इसमें ‘वनस्पति घी’ लिखा है तो संभावना है कि यह पारंपरिक घी नहीं है और इसमें अनहेल्दी फैट हो सकता है.<br />&nbsp;&nbsp;<br />घी और मक्खन का स्वाद और उपयोगघी और मक्खन दोनों का स्वाद बहुत अलग है और इसलिए यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि उनका उपयोग बहुत अलग तरीकों से किया जाता है. भारत में, घी का उपयोग सभी प्रकार की करी, दाल और मांस व्यंजन पकाने के लिए किया जाता है. विशेष अवसरों पर भी इसका उपयोग पूड़ी और परांठे तलने या सूजी या गाजर का हलवा बनाने के लिए खाना पकाने के माध्यम के रूप में भी किया जाता है. इसका कारण घी की उच्च तापमान पर भी पका सकते हैं. मक्खन का उपयोग आमतौर पर व्हाइट सॉस या बेचमेल जैसे त्वरित सॉस बनाते समय किया जाता है. सब्जियों और विशेष रूप से मछली, झींगा और केकड़ों जैसे जल्दी पकने वाले मांस को भूनने के लिए मक्खन भी एक बढ़िया विकल्प है. यह मांस में एक सुंदर स्वाद जोड़ता है और लहसुन और जड़ी-बूटियों के साथ मिलाने पर इसका स्वाद विशेष रूप से अच्छा होता है.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>ये भी पढ़ें:&nbsp;</strong><strong><a title="बीमार होने पर भी करते हैं काम तो जरा ठहर जाएं, वरना बढ़ सकता है कई गंभीर बीमारियों का जोखिम" href="https://www.abplive.com/lifestyle/health/health-tips-side-effects-working-while-sick-during-work-from-home-in-hindi-2587791/amp" target="_self">बीमार होने पर भी करते हैं काम तो जरा ठहर जाएं, वरना बढ़ सकता है कई गंभीर बीमारियों का जोखिम</a></strong>&nbsp;</p>



Source link

  सर्दियों में बच्चों की स्किन सबसे ज्यादा होती है रफ, जानें कैसे रखें ख्याल

Leave a Comment