चाय को सुपर हेल्दी बना देती हैं ये पांच खास चीजें, बनाते वक्त मिलाएंगे तो सेहत रहेगी चकाचक


हम भारतीयों के लिए चाय (tea)दिन का एक अहम हिस्सा बन जाती है. चाय के बिना सुबह शुरू नहीं होती और चाय के बिना शाम का स्नेक्स पूरा नहीं होता. चाय ना सिर्फ ताजगी और एनर्जी देती है बल्कि ये दिमाग को भी रिलेक्स देती है. यूं तो चाय की एक चुस्की ही दिमाग तो तरोताजा कर देती है लेकिन अगर आप सिंपल चाय की बजाय इसमें कुछ खास चीजों को मिलाकर पीना शुरू कर दें तो ये आपकी सेहत के लिए काफी फायदेमंद होगा. चलिए आज आपको बताते हैं कि चाय को हेल्दी बनाने के लिए आप इसमें क्या क्या मिलाकर पी सकते हैं.

लैमनग्रास टी: लैमनग्रास में ढेर सारे एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं जो शरीर को बाहरी खतरों से बचाते हैं. इसके अलावा लैमनग्रास की चाय पीने से पाचन अच्छा होता है. इससे गैस अपच औऱ ब्लोटिंग की दिक्कत कम होती है. इस चाय को पीने से ना केवल ताजगी आती है बल्कि शरीर को काफी लंबे समय के लिए एनर्जी भी मिलती है.

लैमनग्रास टी: लैमनग्रास में ढेर सारे एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं जो शरीर को बाहरी खतरों से बचाते हैं. इसके अलावा लैमनग्रास की चाय पीने से पाचन अच्छा होता है. इससे गैस अपच औऱ ब्लोटिंग की दिक्कत कम होती है. इस चाय को पीने से ना केवल ताजगी आती है बल्कि शरीर को काफी लंबे समय के लिए एनर्जी भी मिलती है.

लौंग की चाय: चाय में लौंग मिलाकर पीने से इम्यूनिटी बढ़ती है और शरीर बैक्टीरिया जनित बीमारियों का सामना करने में समर्थ होता है. लौंग की चाय ना केवल पेट की बीमारियों को दूर रखती है बल्कि इससे दिमाग को फोकस करने में भी मदद मिलती है.

लौंग की चाय: चाय में लौंग मिलाकर पीने से इम्यूनिटी बढ़ती है और शरीर बैक्टीरिया जनित बीमारियों का सामना करने में समर्थ होता है. लौंग की चाय ना केवल पेट की बीमारियों को दूर रखती है बल्कि इससे दिमाग को फोकस करने में भी मदद मिलती है.

दालचीनी की चाय: दालचीनी में एंटीऑक्सिडेंट होते हैं और इसके अंदर एंटी बैक्टीरियल गुण भी पाए जाते हैं, इसलिए चाय में दालचीनी मिलाकर पिएंगे तो बॉडी की इम्यूनिटी बढ़ने के साथ साथ हाई बीपी और डायबिटीज में भी राहत मिलती है. दालचीनी की चाय को पीने से पेट के रोगों में भी काफी राहत मिलती है.

दालचीनी की चाय: दालचीनी में एंटीऑक्सिडेंट होते हैं और इसके अंदर एंटी बैक्टीरियल गुण भी पाए जाते हैं, इसलिए चाय में दालचीनी मिलाकर पिएंगे तो बॉडी की इम्यूनिटी बढ़ने के साथ साथ हाई बीपी और डायबिटीज में भी राहत मिलती है. दालचीनी की चाय को पीने से पेट के रोगों में भी काफी राहत मिलती है.

  Due to diabetes, these body organs can have a bad effect, take care of yourself like this
हरसिंगार की चाय: हरसिंगार का फूल चाय में डालकर पिया जाता है. आपको बता दें कि इस चाय के सेवन से शरीर का खून साफ होता है और इसके अंदर पाए जाने वाले एंटी ऑक्सिडेंट शरीर को कई तरह की बीमारियों से सिक्योरिटी देते हैं. इससे हाई बीपी को कंट्रोल करने में राहत मिलती है और पेट की बीमारियां दूर होती है. इसके साथ साथ ये चाय तनाव, अवसाद और एंजाइटी को भी दूर करती है.

हरसिंगार की चाय: हरसिंगार का फूल चाय में डालकर पिया जाता है. आपको बता दें कि इस चाय के सेवन से शरीर का खून साफ होता है और इसके अंदर पाए जाने वाले एंटी ऑक्सिडेंट शरीर को कई तरह की बीमारियों से सिक्योरिटी देते हैं. इससे हाई बीपी को कंट्रोल करने में राहत मिलती है और पेट की बीमारियां दूर होती है. इसके साथ साथ ये चाय तनाव, अवसाद और एंजाइटी को भी दूर करती है.

रोजमेरी के फूल को चाय में मिलाकर पीने से भी सेहत को कई तरह के फायदे होते हैं. इसके एंटी ऑक्सिडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण शरीर को कई तरह की बीमारियों औऱ दर्द के साथ साथ सूजन से भी बचाते हैं. इसे पीने से शरीर को एनर्जी मिलती है और पाचन दुरुस्त होता है.

रोजमेरी के फूल को चाय में मिलाकर पीने से भी सेहत को कई तरह के फायदे होते हैं. इसके एंटी ऑक्सिडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण शरीर को कई तरह की बीमारियों औऱ दर्द के साथ साथ सूजन से भी बचाते हैं. इसे पीने से शरीर को एनर्जी मिलती है और पाचन दुरुस्त होता है.

Published at : 15 Mar 2024 08:36 PM (IST)

हेल्थ फोटो गैलरी

हेल्थ वेब स्टोरीज



Source link

Leave a Comment