वजन कम नहीं होने देती ये बीमारी, जानें क्यों होता है ऐसा, कैसे बचें


Weight Loss: अगर आप वजन कम करना चाहते हैं तो स्ट्रेस लेने से बचें. जी हां स्ट्रेस को वेट लॉस का दुश्मन बताया जाता है. एक्सपर्ट्स का कहना है कि स्ट्रेस हॉर्मोन का उत्पादन जब एंडोक्राइन ग्रंथियां लगातार करती रहती हैं तो दिल का प्रेशर बढ़ जाता है. इससे धड़कने तेज हो जाती हैं, मसल्स में तेज ब्लड सर्कुलेशन, डर, चिंता और डिप्रेशन जैसी समस्याएं हो सकती हैं. तनाव का हॉर्मोन शरीर की नेचुरल प्रॉसेस को पूरी तरह बिगाड़ सकता है. आइए जानते हैं स्ट्रेस और वेट लॉस में क्या कनेक्शन है…

 

वजन नहीं घटने देता है स्ट्रेस

क्रॉनिक स्ट्रेस की वजह से डायबिटीज और मोटापा हो सकती है. इंसुलिन की तरह ही कोर्टिसोल भी फैट बढ़ाने का काम करता है. इससे वेट गेन होता है. यही कारण है कि स्लीप डेप्रिवेशन की चपेट में आने के बाद फैट बढ़ता है. कोर्टिसोल मेडिटेशन, योगा, मसाज और एक्सरसाइज से कम कर सकते हैं.

 

तनाव से बढ़ती हैं ये बीमारियां

हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार, ज्यादा स्मोकिंग, अल्कोहल ड्रिंकिंग,अनहेल्दी डाइट और तनाव से हाई ब्लड प्रेशर, हार्ट अटैक, हाई कोलेस्ट्रॉल, टाइप-2 डायबिटीज और सांस से जुड़ी समस्याएं बढ़ सकती हैं. तनाव मेंटल हेल्थ के लिए तो मुसीबत ही होती है. इसकी वजह से पोस्ट ट्रॉमेटिक स्ट्रेस डिसऑर्डर (PTSD), एंग्जायटी, डिप्रेशन और पैनिक अटैक का रिस्क बढ़ता है. तनाव की वजह से गर्दन और कंधे में दर्द भी बढ़ सकता है. कोर्टिसोल हार्मोन सूजन भी पैदा कर सकता है.

 

स्ट्रेस से बचने के उपाय

1. प्रतिदिन 20 मिनट तक तेजी से वॉक करें.

  How to treat hypothyroidism with coconut oil

2. प्रकृति के बीच कुछ समय बिताएं.

3. साबुत अनाज, प्रोटीन और फाइबर से भरपूर खाना खाएं.

4. कम से कम आठ घंटे की भरपूर नींद लें.

5. ऑफिस में काम के बीच थोड़ा रेस्ट करें. छोटे-छोटे ब्रेक लेना न भूलें.

6. शराब, सिगरेट और तंबाकू से दूरी बनाएं.

7. अपनी फीलिंग्स को एक डायरी में लिखें.

8. अपने शौक पूरे करने के लिए वक्त निकालें.

9. योग, मेडिटेशन करें.

10. दोस्तों और परिवार के सदस्यों से मदद मांगने में संकोच न करें. उनसे किसी विषय पर चर्चा करें.

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator



Source link

Leave a Comment